TVS kis desh ki company hai

अपने भारत देश में TVS की मोटरसाइकिल बहुत ज्यादा लोकप्रिय है। यह TVS मोटर कंपनी लिमिटेड अपने ही भारत देश की कंपनी है। जिसका मुख्यालय तमिल नाडु राज्य के चेन्नई शहर में स्थित है।

यह 20,000 करोड़ रूपए से अधिक के राजस्व के साथ भारत की तीसरी सबसे बड़ी मोटरसाइकिल कंपनी है। इस कंपनी की 3 मिलियन यूनिट की वार्षिक बिक्री और 4 मिलियन से अधिक वाहनों की वार्षिक क्षमता है।

इस कंपनी की मोटरसाइकिल की निर्यात 60 से ज्यादा देशों में की जाती है। इस तरह TVS मोटर कंपनी लिमिटेड भारत देश की दूसरी सबसे बड़ी निर्यातक है।

कंपनी की स्थापना

[su_quote]TVS कंपनी के संस्थापक टी.वी.सुंदरम अयंगर है और इस कंपनी की स्थापना साल 1978 में भारत देश के तमिल नाडु राज्य के चेन्नई शहर की गयी थी।[/su_quote]

कंपनी का इतिहास

टी.वी. सुंदरम अयंगर ने साल 1911 में मदुरै की पहली बस सेवा के साथ अपने व्यवसाय की शुरुआत की थी और दक्षिणी रोडवेज के नाम से ट्रकों और बसों के साथ परिवहन व्यवसाय में अपनी टीवीएस कंपनी की स्थापना की थी। सुंदरम क्लेटन की स्थापना साल 1962 में क्लेटन डेवेंड्रे होल्डिंग्स, यूनाइटेड किंगडम के सहयोग से हुई थी।

इसने ब्रेक, एग्जॉस्ट, कंप्रेशर्स और कई अन्य ऑटोमोटिव पार्ट्स का निर्माण किया। कंपनी ने साल 1976 में होसुर में एक संयंत्र स्थापित किया, ताकि उनके नए डिवीजन के हिस्से के रूप में मोपेड का निर्माण किया जा सके। साल 1980 में TVS 50 भारत का पहला टू-सीटर मोपेड भारत के तमिलनाडु के होसुर में कारखाने से उतारा गया।

जापानी ऑटो दिग्गज सुजुकी लिमिटेड के साथ तकनीकी सहयोग के परिणामस्वरूप साल 1987 में सुंदरम क्लेटन लिमिटेड और सुज़ुकी मोटर कॉर्पोरेशन के बीच संयुक्त उद्यम हुआ। साल 1989 में मोटरसाइकिलों का व्यावसायिक उत्पादन शुरू हुआ।

सुजुकी कंपनी के साथ संबंध

टीवीएस और सुज़ुकी ने एक वर्षीय संबंध साझा किया था, जिसका उद्देश्य विशेष रूप से भारतीय बाजार के लिए दोपहिया वाहनों के डिजाइन और निर्माण के लिए प्रौद्योगिकी हस्तांतरण था।

टीवीएस-सुजुकी को फिर से नाम दिया गया, कंपनी ने कई मॉडल जैसे सुजुकी सुप्रा, सुजुकी समुराई, सुजुकी शोगुन और सुजुकी शाओलिन को उतारा। साल 2001 में सुजुकी के साथ अलग होने के बाद, कंपनी को टीवीएस मोटर का नाम दिया गया, सुजुकी नाम का उपयोग करने के अपने अधिकारों को त्याग दिया।

30 महीने की अधिस्थगन अवधि भी थी, जिसके दौरान सुजुकी ने प्रतिस्पर्धा में दोपहिया वाहनों के साथ भारतीय बाजार में प्रवेश नहीं करने का वादा किया था।

error: Content is protected