एपीजे अब्दुल कलाम पर भाषण (Speech on APJ Abdul Kalam in Hindi)

इस दुनिया में हमे ऐसे नेता बहुत कम देखने को मिलते है, जो निस्वार्थ होते है, बहुत बुद्धिमान होते है, सभी को समान रूप से प्यार करते है और सिर्फ अपने देश के लिए कुछ करना चाहते है।

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम उन्ही महान नेताओं में से एक है। यह एक ऐसे व्यक्ति थे, जिन्हे आज भी देश के सभी युवा लोग अपना आदर्श मानते है।

अब्दुल कलाम एक ऐसे व्यक्ति थे, जिन्होंने अपने जीवन में जाति और धर्म के बदले में शिक्षा को महत्व दिया था।

उनका जन्म, जन्मस्थान और परिवार

अब्दुल कलाम जी का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को भारत देश के तमिलनाडु राज्य में हुआ था। उस समय अपना देश अंग्रेजों के गुलामी में जी रहा था।

कलाम जी का जन्म एक मुस्लिम परिवार में हुआ था। जहा उनके परिवार में उनके पिता, उनकी माँ और पांच भाई-बहन थे, जिनमे से कलाम जी सबसे छोटे थे।

एक मेहनती छात्र

कलाम जी अपने स्कूल के दिनों में एक औसत छात्र थे। लेकिन एक औसत छात्र होने के बावजूद भी वह एक मेहनती छात्र थे, उन्होंने कभी भी अपने आप को दूसरों से कम नहीं समझा।

इसलिए मुझे ऐसा लगता है की, आज के समय में स्कूल में जो औसत छात्र है, उनके लिए अब्दुल कलाम जी एक बहुत बड़े आदर्श व्यक्ति है।

उनकी शिक्षा और सफलताएं

स्कूल के शिक्षा के बाद मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से अब्दुल कलाम जी ने साल 1960 के समय में ग्रेजुएशन पूरा किया था।

उसके बाद उन्होंने अपने जीवन में कई सारी सफलताएं हासिल की थी। जैसे की ग्रेजुएशन पूरा होने के बाद वह रक्षा अनुसंधान एवं विकास सेवा DRDS से जुड़ गए।

जिसमे वह आगे चलकर एक वैज्ञानिक बन गए। लेकिन जब वह भारत के पहले सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल SLV- III के इसरो में प्रोजेक्ट डायरेक्टर बन गए, तब उन्हे अपने जीवन में करियर के रूप में एक बड़ी सफलता हासिल हुई।

ऐसे ही उन्होंने अपने जीवन में कई सारी बड़ी सफलताएं हासिल की, जिसकी वजह से वह पूरे देश में एक प्रतिष्ठित और लोकप्रिय व्यक्ति बन गए।

जैसे की इन्होंने अपने देश में अग्नि और पृथ्वी मिसाइलों को निर्माण करके “भारत के मिसाइल मैन” का सम्मान हासिल किया। उसके बाद उनको एकीकृत निर्देशित मिसाइल विकास कार्यक्रम IGMDP का प्रमुख अधिकारी बना दिया गया था।

उनकी सफलताएं और उपलब्धियां यही तक नहीं रुकी, बल्कि इनको पोखरण II परमाणु परीक्षण में एक प्रमुख अधिकारी बना दिया गया था। उसके बाद अब्दुल कलाम जी साल 2002 में भारत देश के 11वें राष्ट्रपति बन बन गए।

एक महत्वपूर्ण व्यक्ति

एपीजे अब्दुल कलाम एक ऐसे व्यक्ति थे, जिनको पूरे भारत देश के लोग सम्मान और प्यार करते थे। जिस कारण वह पूरे देश में ‘द पीपल्स प्रेसिडेंट’ के रूप में लोकप्रिय थे।

वह एक सम्मानित व्यक्ति थे, इसलिए उनके निधन पर पूरे देश में शोक मनाया गया था। उन्ही के महान योगदान के कारण अपना भारत देश विज्ञान के क्षेत्र में नई ऊंचाइयों पर पहुँच पाया।

निष्कर्ष

अंत में मैं यही कहना चाहता हु की, हम अपने जीवन में कई सारे नीताओं को देखते है। लेकिन अब्दुल कलाम जैसे नेता बहुत कम देखने को मिलते है। वह अपने भारत देश के एक महान राष्ट्रपति और वैज्ञानिक थे, जिन्हे लोग हमेशा याद करेंगे।

इसलिए हमे भी अपने जीवन में कुछ बड़ा करना है या फिर कोई बड़ा व्यक्ति बनना है, तो हमे एपीजे अब्दुल कलाम जैसे महान लोगों को अपना आदर्श मानना चाहिए और उन्ही की तरह कड़ी मेहनत और लगन के साथ अपनी सफलता हासिल करनी चाहिए।

error: Content is protected