Software क्या है? इसके प्रकार (software kya hai)

प्रोग्राम्स का दूसरा नाम होता है सॉफ्टवेयर। सॉफ्टवेयर मतलब कंप्यूटर निर्देश है, जो आपको बताता है कि, आपको आवश्यक जानकारी कैसे प्राप्त करनी है।

सॉफ्टवेयर दो प्रकार के होते हैं। पहला है सिस्टम सॉफ्टवेयर और दूसरा है एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर।

इसमें जिस प्रकार के सॉफ्टवेयर का हम लोग उपयोग करते हैं, वह एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है और जिस तरह से कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का उपयोग करता है वह सिस्टम सॉफ्टवेयर है।

सॉफ्टवेयर के दो प्रकार

  • सिस्टम सॉफ्टवेयर
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर

सिस्टम सॉफ्टवेयर: 

जो लोग कंप्यूटर का उपयोग करते हैं वे मुख्य रूप से एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर का उपयोग करते हैं। उस समय एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर सिस्टम सॉफ्टवेयर की मदद से कंप्यूटर के हार्डवेयर के साथ संचार करता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर, पीछे का सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर को आंतरिक संसाधनों के प्रबंधन में मदद करता है। सिस्टम सॉफ्टवेयर एक एकल कार्यक्रम नहीं है, बल्कि यह कई कार्यक्रमों का एक समूह है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के इन कार्यक्रमों को तीन भागों में विभाजित किया गया है। जिसमें ऑपरेटिंग सिस्टम, यूटिलिटीज और डिवाइस ड्राइवर शामिल हैं।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर:

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर प्रत्यक्ष उपयोगकर्ताओं के लिए डिज़ाइन किया गया सॉफ्टवेयर होता है। इन प्रोग्राम्सचे के कुछ बुनियादी प्रकार होते हैं। जिसमे ब्राउज़र, वर्ड प्रोसेसर, स्प्रेडशीट, डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम और प्रेजेंटेशन ग्राफिक शामिल हैं।

  • सभी प्रकार के निबंध यहा देखे: Click Here
  • सभी प्रकार के निबंध यहा देखे (अंग्रेजी भाषा में): Click Here
error: Content is protected