राष्ट्र निर्माण में विद्यार्थियों का योगदान (rashtra nirman mein vidyarthi ki bhumika in hindi essay)

प्रस्तावना

विद्यार्थियों का जीवन हर किसी के लिए महत्वपूर्ण है। इन छात्र जीवन में, हम सभी कई प्रकार के कला को सीखते हैं, जिन सब के द्वारा भविष्य को निर्धारित किया जाता है।

इसी करण, हर किसी को अपने छात्र जीवन में अपने कर्तव्यों को ज्ञान होना चाहिए। समाज और देश के विकास के लिए इसका इस्तेमाल करने की हर किसी को ज़रूरत होती है।

छात्र जीवन एक अच्छा जीवन और परंपरा कहलाता है।

सटीक शिक्षा

छात्रों के ज़िन्दगी में प्रत्येक का प्रथम कार्य है, वे पूरी तरह से सही शिक्षा को पूर्ण करते हैं। शिक्षा के माध्यम से लोग नए जीवन को आकार देने में सक्षम हो पाते हैं। इसलिए जो लोग शिक्षा से डरते हैं, वो लोग अपने जीवन में असफल ही होते है। इसलिए शिक्षा से डरना नहीं है, बल्कि उसे अपनाना है क्योंकि शिक्षा व्यक्ति को ठोस व आत्मनिर्भर बनाती हैं और उसका जीवन सफल हो जाता है।

शिक्षा प्रत्येक कार्य के मानव कौशल प्रदान करती है। जो लोग उच्च शिक्षा ग्रहण करेंगे वे परिवारों, समुदायों और देशों की अच्छी प्रकार से सेवा करेंगे। इसलिए, राष्ट्रीय विकास के लिए शिक्षा प्रथम चरण मानी जाती है।

सच्चे छात्र अच्छे जिज्ञासा ग्रहण किये होते हैं और उन छात्रों की इच्छा रखते हैं जो शिक्षा के राह पर कई प्रकार की मुश्किलों को देखना पसंद करते हैं और जो ध्यान देकर अन्य सभी चीजों को भूल जाते हैं। एक सच्चे छात्र की भांति हर एक छात्र का कर्तव्य भी होता है कि, वह देश के विकास में हाथ दे और देश को विकास की ओर ले जाये।

युवा वर्ग और ताकत

आज के छात्र भविष्य के वासी बन सकते हैं, देश के कंधों पर देश का भविष्य और विकास रहता है। किसी भी देश में युवा का कौशल व उनकी शक्ति पर ज़ोर दिया जाता है।

उनकी आवश्यकता यह है कि, उनकी कौशल का उपयोग रचनात्मकता में होना चाहिए और अगर यह उनकी शक्ति को मिटा पाने में असफल होते हैं और इसे बुरे कार्य में डाल देते हैं। यदि इस छात्र की कौशल रचनात्मक कार्यों में शामिल रहती है, तो राज्य में ठोस परिवर्तन किया जा सकता है।

छात्र असंतोष की वजह

एक छात्र के असंतोष का कारण क्या है? वे अपनी ताकत का सही से इस्तेमाल नहीं करते। ये कुछ बुद्धिमान सवाल हैं, यह आधुनिक शिक्षा प्रणाली के दोषों का प्रथम कारक सिद्ध हुआ है।

इस शिक्षा प्रणाली में कोई बौद्धिक विकास दिखाई नहीं देती है और छात्रों को व्यावहारिक ज्ञान का अनुभव नहीं होता। इस देश में शिक्षित बेरोजगारों की संख्या में काफी तेजी से बड़ती देखी गयी है।

क्रिसमस पर निबंध: Click Here

सभी निबंध अंग्रेजी में जानने के लिए यहा क्लिक करे: Click Here

नए प्रकार के शोध

आज का ये तेज समय एक ऐसा युग है जो देश के विकास के रूप में बहुत बड़ा हिस्सा निकल कर सामने आएगा। तो छात्रों के लिए, यह ज़रूरी बन गया है कि वे नए प्रकार के शोध करके सफलता के दरवाजे खोलें, छात्र संचालन के क्षेत्र में दवा और नए शोध में और आत्मविश्वास से खोज करें।

परिपक्व कार्यों और विकास उन्मुख कार्यों का उपयोग

परिपक्व ज्ञान छात्रों के जीवन को एक नई राह देने के लक्ष्य से बहुत ज़रूरी है। इसलिए अव्यवस्था के हालात त्रासदी ज्ञान की गंभीरता किसी भी प्रकार नहीं बन सकती है।

error: Content is protected