Operating System क्या है और इसके कार्य – जानिए सूची और उदाहरण के साथ (Operating System Kya Hai)

Operating System (OS) नामक एक छोटा सा तकनीक है, जो एक कंप्यूटर प्रोग्राम है और जो अन्य कंप्यूटर प्रोग्राम संचालित करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम उपयोगकर्ताओं और कंप्यूटर सिस्टम के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य करता है।

यह कंप्यूटर के लिए हमारे निर्देश जारी करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम अन्य सॉफ्टवेयर प्रोग्राम और सॉफ्टवेयर द्वारा किया जाता है। सॉफ्टवेयर एक समूह की तरह कार्य करता है, जो डेटा ट्रांसमिशन और निर्देशों को नियंत्रित करता है।

यह हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच पुल का काम करता है और एक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर घटक है। इस मदद के साथ, कंप्यूटर पर प्रोग्राम स्थापित कर सकते हैं।

ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ मुख्य फ़ंक्शन

  • एक साधारण कंप्यूटर सिस्टम का निर्माण

कंप्यूटर सिस्टम उपयोगकर्ता केवल बाइनरी नंबरों जिसे 0.1 कहते हैं, उसमे डेटा को समझते हैं। हालांकि, उपयोगकर्ताओं को बाइनरी को निर्देश देना काफी मुश्किल समझा जाता है। इसी कारण, उपयोगकर्ता इंटरफ़ेस ऑपरेटिंग सिस्टम को अपने लिए तैयार करने के लिए पूरा करता है।

  • हार्डवेयर अधिसूचनाएं छिपाना

जब उपयोगकर्ता कंप्यूटर को निर्देश प्रदान करता है, तो हार्डवेयर और ऑपरेटिंग सिस्टम के बीच वार्तालाप होता है। हम इसके बारे में नहीं जानते हैं। क्योंकि, यह जानकारी हमारे लिए बेकार है। इसलिए, ऑपरेटिंग सिस्टम हार्डवेयर से संबंधित सभी अधिसूचनाएं हमसे छिपाता है।

  • सरल माध्यम प्रदान करना

जीयूआई जिसे आम भाषा में ग्राफिकल यूजर इंटरफेस कहा जाता है। इसी पर आज कि आधुनिक ऑपरेटिंग सिस्टम निर्भर है। जहा यूजर को अपने कंप्युटर में कोई भी कमांड देने के लिए कोई कोडिंग या प्रोग्रामिंग की ज़रूरी नहीं है।

बल्कि जिस काम को आप करना चाहते हैं, वह बटन या आइकन के माध्यम से कर सकते हैं। आपका डेस्कटॉप आइकन इसका सबसे अच्छा उदाहरण सिद्ध हुआ है।

यहां से आपको कंप्यूटर फ़ाइल पर जाना होगा, जिसके लिए आपको बस कंप्यूटर आइकन पर क्लिक करना होगा और फ़िर आप उस फाइल तक पहुंच जाएंगे।

  • प्रबंधन संसाधन

आपके कंप्यूटर सिस्टम में संसाधनों का प्रबंधन अथवा आवंटन केवल ऑपरेटिंग सिस्टम के माध्यम से ही किया जाता है। विशेष कार्य के लिए कितनी मेमोरी आवंटित की जाएगी, किस हार्डवेयर की सूचना दी जानी चाहिए, यह सब ऑपरेटिंग सिस्टम का कार्य है।

विभिन्न प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम

ऑपरेटिंग सिस्टम हमेशा कंप्यूटर के साथ जुड़ा रहता है। जब एक कंप्यूटर विकसित किया गया था, तो ऑपरेटिंग सिस्टम भी विकसित हुआ। इसी ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार कई विभिन्न प्रकार:

  1. बहुउपयोगकर्ता ऑपरेटिंग सिस्टम

यह ऑपरेटिंग सिस्टम एक से अधिक उपयोगकर्ता एक साथ काम करने के लिए प्रदान करता है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम के वक़्त सैकड़ों उपयोगकर्ता अपने स्वयं के कार्य कर सकते हैं।

  1. एकल उपयोगकर्ता ऑपरेटिंग सिस्टम

एकल उपयोगकर्ता ऑपरेटिंग सिस्टम केवल एक ही उपयोगकर्ता के लिए कार्य सफल करने की अनुमति देता है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम के दौरान कई उपयोगकर्ता काम नहीं कर सकते हैं।

  1. मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम

यह ऑपरेटिंग सिस्टम उपयोगकर्ताओं को कई अलग-अलग programs को एक साथ चलाने की अनुमति देता है।

  1. बहु प्रसंस्करण ऑपरेटिंग सिस्टम

यह ऑपरेटिंग सिस्टम एक से अधिक सीपीयू के लिए कार्य करने की भूमिका निभाता है।

  1. मल्टी थ्रेडिंग ऑपरेटिंग सिस्टम

यह ऑपरेटिंग सिस्टम एक साझा कार्यक्रम के कई तरह के हिस्सों को चलाने की अनुमति देता है।

  1. रीयल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम

असलियत के समय ऑपरेटिंग सिस्टम उपयोगकर्ता के माध्यम से इनपुट पर तुरंत प्रक्रिया करता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम की सुविधाएं

ऑपरेटिंग सिस्टम उन सभी programs का संग्रह है, जो program अलग – अलग होते हैं। यह सभी इनपुट या आउटपुट उपकरणों को नियंत्रित करने में सक्षम होता है। सभी एप्लिकेशन ऑपरेटिंग सिस्टम चलने वाले सॉफ़्टवेयर पर काम करते हैं।

शीर्ष 10 सर्वश्रेष्ठ ऑपरेटिंग सिस्टम

  • MS-Windows
  • Ubuntu
  • Mac OS
  • Fedora
  • Solaris
  • Free BSD
  • Chrome OS
  • CentOS
  • Debian
  • Deepin
  • सभी प्रकार के निबंध यहा देखे: Click Here
  • सभी प्रकार के निबंध यहा देखे (अंग्रेजी भाषा में): Click Here
error: Content is protected