मोटोरोला किस देश की कंपनी है? (Motorola Mobile kis Desh ki Company Hai)

परिचय

Motorola अमेरिका की मल्टीनेशनल टेलीकमिनिकेशन कंपनी है। मोटोरोला कंपनी ने ही दुनिया का पहला पोर्टेबल मोबाइल बनाया था।

कुछ सालो पहले मोटोरोला कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल बनाने वाली कंपनी रही थी। साल २००७ से लेकर २००९ तक बहुत सारे नयी कंपनियों के अच्छे फीचर वाले मोबाइल बाजार में उतारे गाये थे।

इसीलिए मोटोरोला की लोकप्रियता कम होती चली गयी। उसी के वजह कंपनी को बहुत नुकसान हुआ था। इसीलिए कंपनी को बेचना पड़ा था।

कंपनी की स्थापना

“मोटोरोला कंपनी की स्थापना 25 सितम्बर 1928 को अमेरिका का राज्य इलिनोयस के शहर शिकागो में की थी। इस कंपनी के संस्थापक पॉल गैल्विन और जोसेफ गैल्विन है।

गैल्विन मैन्युफैक्चरिंग कॉर्पोरेशन

साल 1928 में पॉल और जोसेफ गैल्विन ने मिलकर किराये के मकान में गैल्विन मैन्युफैक्चरिंग कॉर्पोरेशन नाम के कंपनी की स्थापना की थी। इस कंपनी को सिर्फ 5 एम्प्लॉय के साथ शुरू किया था।  

कंपनी की सुरुवात नीलामी में ख़रीदे गए “स्टीवर्ट बैटरी कंपनी” के कुछ वस्तुओं से शुरू की थी। कंपनी की शुरुवात होते ही उन्होंने सबसे पहला प्रोडक्ट बैटरी एलिमिनेटर बनाया था।  

जिसकी मदत से बैटरी पर चलने वाले रेडिओ घरके बिजली पर भी चलने लगे थे।  लेकिन कंपनी का ये प्रोडक्ट बाजार में ज्यादा दिन तक नहीं चल पाया था।

Motorola नाम का जन्म 

आगे चलके गैल्विन मैन्युफैक्चरिंग कॉर्पोरेशन ने मोटर कार में लगने वाले रेडिओ बनाने का काम चालू कर दिया। इस प्रोडक्ट की लोकप्रियता तब बढ़ गयी थी जब उसे रेडिओ मैन्युफैक्चरिंग असोसिएशन के एक सम्मेलन में दिखाया गया था।

कंपनी को इस रेडिओ को एक अलग नाम से बाज़ार में उतारना था। इसीलिए इस रेडिओ को उन्होंने Motorola नाम रख दिया था। कंपनी ने बनाया हुआ मोटोरोला नाम का ये रेडिओ 27 जून 1930 में पहली बार बेचा था, वो भी 30 अमेरिकन डॉलर में।

जब मोटोरोला रेडिओ की बहुत ही ज्यादा लोकप्रियता हो गई तब कंपनी ने अपना नाम Galvin Manufacturing  Corporation को हटाके Motorola रख दिया था।

मोटर कार रेडिओ रिसीवर और SCR 536 रेडिओ

कुछ सालो बाद मोटरोला कंपनी ने मोटर कार रेडिओ रिसीवर बनाये थे, जो वहाके पुलिस डिपार्टमेंट को बेच दिए थे। दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान मोटोरोला कंपनी ने SCR 536 नाम का रेडिओ लॉन्च कर दिया था, जो अमेरिकन मिलिट्री को कमिनिकेशन करने मे बहुत मदत करता था।

Motorola का पहला टीवी

साल 1947 में मोटोरोला कंपनी ने अपना पहला Television VT – 71 बनाया था। इस तरह मोटोरोला कंपनी पहले टीवी और रेडिओ बनाने का काम करती थी।

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा में मोटोरोला का योगदान

साल 1958 में “अमेरिकन स्पेस एजेंसी नासा” का पहला सेटेलाइट लांच करते समय मोटोरोला कंपनी ने नासा के लिए बहुत सारे रेडिओ उपकरण बनाने का काम किया था।

दुनिया का पहला पोर्टेबल फ़ोन

3 अप्रैल 1973 में मोटोरोला कंपनी ने दुनिया का पहला पोर्टेबल फ़ोन बनाया था। उसका नाम था “Motorola Dyna TAC” . जिसको मोटोरोला कंपनी के इंजीनियर मार्टिन कूपर ने बनाया था।

मोटोरोला का टीवी का बिजिनेस और मात्सुशिता कंपनी

साल 1974 में मोटोरोला कंपनी ने अपना टीवी का बिजिनेस जापान की कंपनी मात्सुशिता को बेच दिया था। मात्सुशिता जो Panasonic कंपनी की सब ब्रांड है। मोटोरोला ने अपने टेलेविजन का बिजिनेस बेच दिया क्योंकि उनको फ़ोन बनाने के बिजिनेस में बहुत लोकप्रियता मिल रही थी।

दुनिया का पहला सेल्लुलर फ़ोन

मोटोरोला कंपनी को फोन के बिजिनेस में बहुत लोकप्रियता मिलने कि वजह से कंपनी उसी बिजिनेस में अपना ध्यान केंद्रित करने लगी थी।इसलिए उन्होंने अपने फ़ोन के बिजिनेस के लिए ज्यादा वक़्त दिया और साल 1984 में दुनिया का पहला सेल्लुलर फ़ोन बनाया था।

जिसका नाम “Dyna TAC 8000 X” था। आगे भी मोटोरोला ने बहुत सारे अलग – अलग तरह के मोबाइल लांच किये थे। इसीलिए मोटोरोला उस समय सबसे बड़ी फ़ोन बनाने वाली कंपनी बन गयी थी।

मोटोरोला और नोकिया

जब नोकिया के फ़ोन बाजार में आ गये, तब नोकिया के फ़ोन की लोकप्रियता ज्यादा होने के कारण नोकिया कंपनी पहली सबसे बड़ी फ़ोन बनाने वाली कंपनी बन गयी और इसी की वजह से मोटोरोला दूसरे क्रमांक पे चली गयी।

Motorola Mobility और Motorola Solution

साल 2007 से मोटोरोला का बाजार घटता चला गया इसीलिए 4 जनवरी 2011 को मोटोरोला कंपनी को दो पब्लिक कंपनियो मे बाट दिया गया था। जिनका नाम Motorola Mobility और Motorola solution था।

साल 2012 में गूगल ने मोटोरोला मोबिलिटी को खरिद लिया और 2 साल बाद उसे लेनोवो कंपनी को बेच दिया था। आज लेनोवो की वजह से मोटोरोला के फोन फिरसे एक बार आगे निकलने की कोशिश कर रहे है।

  • कोरोनावायरस पर निबंध: Click Here
  • महिला सशक्तिकरण पर निबंध: Click Here
error: Content is protected