History of Lamborghini in Hindi

आज के ज़माने में सभी लोगोंको विशेषता युवा पीढ़ी। जिसमे स्पोर्ट गाडियोंको लेकर एक अलग क्रेज़ होती है। दुनिया के हर युवा का ये सपना होता है की अपने पास भी एक स्पोर्टकार या स्पोर्टबाइक हो।

जिसमे सवार होके वो कॉलेज में जाये, लड़कियोंपर इम्प्रैशन जमाये। लोगोंके वही सपनोंके दुनिया में बसी हुई एक कार जिसका नाम  लेम्बोर्गिनी  है। दोस्तों हम उसीके बारेमे जानेंगे।

लेम्बोर्गिनी एक ऐसी कार है जो पूरी दुनिया में मशहूर है। लेम्बुर्गिनी वाहतूक निर्माता कंपनी एक इटालियन कार कंपनी है। जिसकी स्थापना 30 अक्टूबर 1963 में हुई थी। जिसके संस्थापक फारुशियो लेम्बोर्गिनी थे। इन्होनेही लेम्बोर्गिनी  वाहतूक कंपनी की सुरुवात की थी।

फारुशियो लेम्बोर्गिनी

 

फारुशियो लेम्बोर्गिनी एक मेकेनिकल इंजीनिअर थे। फारुशियो लेम्बोर्गिनी 1940 में इटेलि‍यन रॉयल एयर फोर्स में चले गए। वहा पर वो एक मेकेनिक का काम करते थे। उधर काम करते करते उनको उस काम का अनुभव हो गया और वो “व्‍हीकल मेनटेनेंस यूनि‍ट” के सुपरवाइजर बन गए। फारुशियो लेम्बोर्गिनी इन्होने दूसरे विश्वयुद्ध के बाद एक गैराज खोला।

लेम्बोर्गिनी ने देखा की दूसरे विश्वयुद्ध के बाद इटली में एग्रीकल्‍चर और इंडस्‍ट्रि‍यल क्रांति‍ तेजी से बढ़ते जा रहे है। इसलिए लेम्बोर्गिनी ने खुद एक 6 सिलेंडर पेट्रोल इंजन वाला “कैरिओका” नाम का ट्रैक्टर बनाया। इस ट्रैक्टर  से लेम्बोर्गिनी को बहुत बड़ी सफलता हासिल हुई। उसके बाद लेम्बोर्गिनी ने  “लेम्बोर्गिनी ट्रटोरी” नाम की कंपनी खड़ी  करदी। उसमे उन्होंने  ट्रेक्टर बनाना शुरू किया।

लेम्बोर्गिनी का बदला

 

लेम्बोर्गिनी को कार रेसिंग बहुत पसंद थी। इसलिए इन्होने रेसिंग के प्रति‍ अपने पैशन को देखते हुए 1958 में फरारी 250 जीटी को खरीदा। ये कार दो सीटों वाली कार थी। ये कार उन्हें बहुत अच्छी लगी। लेकिन लेम्बोर्गिनी एक मैकेनि‍क होने के नाते उस कार में उन्होने पाया की कार तो अच्छी है लेकिन कार का आवाज़ बहुत ज्यादा है और करब सड़कोंपर चलने लायक नहीं है। और उसके इंटीरि‍यर क्‍लच को रीपेयर करने की जरूरत है।

ये वो दौर था जब फेरारी कार पूरी दुनिया में अपना नाम कमा रही थी और लेम्बोर्गिनी के तब शुरुवाती दिन थे। उस समय मतलब 1960 के दशक में फेरारी कंपनी दुनिया के सबसे बेहतर लग्‍जरी स्‍पोर्ट्स कारों को बनाने वालों में से एक थी। लेम्बोर्गिनी ने सोचा  अपनी खामियोंके बारेमे बताये जो उन्होंने अपनी कार “फरारी 250 जीटी” में देखा था।

फेरारी एक बड़ा नाम था इसलिए इन्होने लेम्बोर्गिनी जैसे युवा टैक्‍टर मैकेनि‍क की बातोंको नज़रअंदाज़ कर दिया। एन्झो फेरारी ने फारुशियो लेम्बोर्गिनी के बातोंको नज़रअंदाज़ थो कर ही दिया। उसके बाद एन्झो फेरारी ने लेम्बोर्गिनी के बातोंको जवाब देते हुए कहा की , “प्रॉब्‍लम हमारे कार में नहीं ड्राइवर में है’ और उसके बाद  उन्‍होंने ये भी कहा  कि “आप अपने ट्रैक्टर बि‍जनेस पर ध्यान दे , आप को कार के बारे में कुछ नहीं पता।” 

 

ये सुनकर लेम्बोर्गिनी को बहुत बुरा लगा था। उनकी बहुत ज्यादा बेइज़्ज़ती हुई थी। इसलिए उनको बहुत बड़ा झटका लगा। इस घटना के बाद फारुशियो लेम्बोर्गिनी का स्पोर्टकार बनाने का इतिहास सुरु हुआ। एन्झो फेरारी का वो जवाब उनके लिए एक चुनौती बन गया था। लेम्बोर्गिनी ने अपने चुनौती को जितने के लिए कड़ी मेहनत करना शुरू किया और सिर्फ 4 महिनोमे उन्होंने 30 अक्टूबर 1963 में उन्होंने “Lamborghini 350 GTV” को लॉन्च किया। इस कार को लॉन्च करने के बाद उन्हें बहुत ही बड़ी सफलता मिल गयी।

 

इस कार को बड़ी सफलता मिली और फरारी को सबसे बड़ी टक्कर साबित हुई क्योंकि Lamborghini ने अपनी कारोंकी किम्मत फेरारी के बराबर रखी थी। क्योंकि  उसकी मैन्युफैक्चरिंग सही थी। जो खामिया फारुशियो लेम्बोर्गिनी को फरारी 250 जीटी कार में लगी थी।  उस खामियोंको  उन्होंने “Lamborghini 350 GTV” में पूरी करदी थी। इसके बाद इन्होने कार के इंजिन की क्षमता बढ़ाने के लिए 400 GT को पेश किया। आज स्पोर्ट्सकार के दुनिया में लेम्बोर्गिनी कार की एक अलग जगह है। जो आमिर लोगोंके घरमे और सामान्य लोगोंके सपनोमे बसी हुई है।इसलिए स्पोर्ट्सकार का नाम लेते ही सबसे पहला नाम आता है “Lamborghini” |

समुद्री इंजन

Motori Marini लेम्बोर्गिनी वर्ल्ड ऑफ़शोर सीरीज़ क्लास 1 पॉवरबोट्स में उपयोग के लिए एक बड़ा V12 समुद्री इंजन ब्लॉक का उत्पादन करती है। एक लेम्बोर्गिनी ब्रांडेड समुद्री इंजन लगभग 8,171 सीसी को विस्थापित करता है और लगभग 940 hp आउटपुट देता है।

मोटरसाइकिल

साल 1980 के दशक के मध्य में, लेम्बोर्गिनी ने 1,000 सीसी की स्पोर्ट्स मोटरसाइकिल का एक सीमित-उत्पादन रन बनाया। ब्रिटेन के साप्ताहिक समाचार पत्र मोटर साइकल न्यूज ने साल 1994 में बताया – जब एसेक्स मोटरसाइकिल रिटेलर के माध्यम से उपलब्ध एक उदाहरण की विशेषता है – कि एक लेम्बोर्गिनी मिश्र धातु फ्रेम के साथ समायोज्य स्टीयरिंग हेड एंगल, कावासाकी GPz1000RX इंजन, ट्रांसमिशन यूनिट, सेरियानी फ्रंट फोर्क्स और मार्विक पहियों के साथ बनाए गए थे। । बॉडीवर्क प्लास्टिक था और पूरी तरह से फ्रंट फेयरिंग के साथ एकीकृत होकर ईंधन टैंक और सीट कवर में एक रियर टेल-फेयरिंग में विलय हो गया। मोटरसाइकिलों को लैंबॉर्गिनी स्टाइलिस्ट द्वारा डिजाइन किया गया था और फ्रांसीसी व्यवसाय बॉक्सर बाइक्स द्वारा निर्मित किया गया था।

ब्रांडेड वस्तु

लेम्बोर्गिनी अपने ब्रांड को उन निर्माताओं को लाइसेंस देती है जो विभिन्न मॉडल, कपड़े, सामान, बैग, इलेक्ट्रॉनिक्स और लैपटॉप कंप्यूटर सहित लेम्बोर्गिनी-ब्रांडेड उपभोक्ता वस्तुओं का उत्पादन करते हैं।

कंपनी की पहचान

बुलफाइटिंग की दुनिया लैम्बोर्गिनी की पहचान का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। साल 1962 में, फेरुचियो लेम्बोर्गिनी ने डॉन एडुआर्डो मिउरा के सेविले खेत का दौरा किया, जो स्पैनिश लडाऊ बैल का एक प्रसिद्ध प्रजनक था। लैंबॉर्गिनी, खुद एक वृषभ, राजसी मिउरा जानवरों से इतना प्रभावित था कि उसने वाहन निर्माता के लिए प्रतीक के रूप में एक उग्र बैल को अपनाने का फैसला किया।