जनरल मोटर्स कंपनी (जीएमसी) की जानकारी हिंदी में (GMC Car History in Hindi)

जनरल मोटर्स कंपनी (जीएमसी) औपचारिक रूप से जनरल मोटर्स एलएलसी का जीएमसी डिवीजन, अमेरिकी ऑटोमोबाइल निर्माता जनरल मोटर्स (जीएम) का एक प्रभाग है जो मुख्य रूप से ट्रकों और उपयोगिता वाहनों पर केंद्रित है।

GMC दुनिया भर में जनरल मोटर्स द्वारा पिकअप और वाणिज्यिक ट्रकों, बसों, वैन, सैन्य वाहनों और खेल उपयोगिता वाहनों की बिक्री करती है।

उत्तरी अमेरिका में, GMC डीलरशिप लगभग हमेशा Buick डीलरशिप हैं, जो सामान डीलर को अपस्केल कारों और ट्रकों दोनों का विपणन करने की अनुमति देती हैं।

कंपनी की स्थापना

[su_quote]GMC का फुल फॉर्म  General Motors Company है। इस कंपनी की स्थापना २२ जुलाई १९११ को हुई थी। इस कंपनी के फाउंडर विलियम सी.डुरंट है।[/su_quote]

कंपनी का इतिहास

साल 1902 में जनरल मोटर्स कंपनी नें अमीरिकी राज्य मिशिगन में रैपिड मोटर व्हीकल नाम के कंपनी की स्थापना की। आगे चलकर साल 1909 में रैपिड मोटर कंपनी को विलियम सी.दुरंत नें संभाला था।

साल 1911 में जनरल मोटर्स कंपनी नें ट्रक कंपनी का निर्माण किया। इस ट्रक कंपनी में  जनरल मोटर्स नें रैपिड और रिलायंस दोनों को शामिल किया।

लेकिन साल 1912 में जनरल मोटर्स कंपनी नें रैपिड और रिलायंस इन दोनों कंपनी को जीएमसी पक्ष से निकाल दिया गया था। जनरल मोटर्स कंपनी का बिजनेस मिशिगन, ऑकलंड, पोंटीयाक, सेंट लुईस और ऐसे ही कई सारी जगह पर स्थापित हुआ था ।

ट्रकों का उत्पादन

जब इस दुनिया में दूसरा महायुद्ध चल रहा था, तब जनरल मोटर कंपनी नें अमेरिका के लिए सशस्त्र बलों द्वारा उपयोग के लिए 600,000 ट्रकों का उत्पादन किया था।

साल 1916 में जनरल मोटर कंपनी के ट्रकों नें तीस दिनों के अंदर सिएटल से न्यूयॉर्क शहर तक सफर किया था। उसके बाद साल 1926 में यही दो टन वाले ट्रकों नें न्यूयॉर्क से सैन फ्रांसिस्को तक का सफर सिर्फ 5 दिनों में किया था।

जनरल मोटर कंपनी का दूसरा प्लांट

साल 1928 में जनरल मोटर कंपनी का दूसरा प्लांट खोला गया था। जिसके बाद इस कंपनी के जीतने भी मुख्यालय है, वहाके सभी कर्मचारी इस दूसरे प्लांट में शामिल हुए थे।

इस दूसरे प्लांट को पोंटियाक शहर में स्थापित किया गया था। आगे चलकर GMC Truck & Coach कंपनी GM Worldwide Truck & Bus Group का हिस्सा बन गई।

बस उत्पादन

जनरल मोटर कंपनी का बस उत्पादन साल 1987 में  समाप्त हो गया था। उसके बाद  डिवीजन का नाम जीएमसी ट्रक एंड कोच से बदलकर जीएमसी ट्रक डिवीजन कर दिया गया था।

आगे चलकर कनाडाई प्लांट ने 1962 से लेकर 1987 तक बस का उत्पादन किया था। उसके बाद जनरल मोटर कंपनी नें 1970 से 80 के दशक तक प्रतिस्पर्धा बढ़ने के कारण जीएम बस और कोच का उत्पादन बंद कर दिया।

error: Content is protected