घरेलू हिंसा पर निबंध (Domestic Violence Essay In Hindi) – Gharelu Hinsa Essay in Hindi

प्रस्तावना

घरेलू हिंसा मतलब घर के परिवार से घर के महिलाओं पर होने वाली हिंसा और दुर्व्यवहार। यह घरेलू हिंसा किसी भी कारण से हो सकती है।

इन कारणों में वह हर दुर्व्यवहार शामिल है, जिसके माध्यम से महिलाओं पर अत्याचार किया जाता है और उन पर नियंत्रण करने की कोशिश की जाती है। जिसमे महिलाओं को कई तरह की समस्याओं का शिकार होना पड़ता है।

निरक्षरता

घरेलू हिंसा के शिकार हमेशा महिलाएं ही होती है। इस घरेलू हिंसा का कारण होता है उनकी निरक्षरता। हमारे देश में कई ऐसी महिलाएं हैं, जो ज्यादा पढ़ी-लिखी नहीं होती हैं।

जिस कारण उन्हे अपने ऊपर हो रहे घरेलू हिंसा के खिलाफ लढाई करने का ज्ञान नहीं होता है। इसलिए वह हमेशा यह अत्याचार सहती रहती है।

आर्थिक निर्भरता

कुछ महिलाएं ऐसी होती है, जो अपने आर्थिक लाभ के लिए घर के पुरुषों पर निर्भर रहती है। जहा कुछ महिलाओं को इसी आर्थिक लाभ के लिए पुरुषों से हो रहे अत्याचार को सहना पड़ता है।

दहेज

दहेज भी महिलाओं पर हो रहे घरेलू हिंसा के सबसे बड़े कारणों में से एक है। क्योंकि यह एक बहुत बड़ी सामाजिक बुराई है। जिसके लिए महिलाओं पर बहुत सारा दबाव डाला जाता है, जो उनके मौत का कारण भी बनता है।

घरेलू हिंसा के प्रकार

महिलाओं पर हो रही घरेलू हिंसा अपने भारत देश के गंभीर समस्याओं में से एक है। इस घरेलू हिंसा के कई सारे प्रकार होते है।

जैसे कि शारीरिक शोषण, भावनात्मक शोषण, यौन शोषण और आर्थिक शोषण आदि। इस तरह से महिलाओं का शोषण करके कई पुरुष उन्हें अपने नियंत्रण में रखने की कोशिश करते हैं।

निष्कर्ष

इस समाज में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार के कारण उनके आत्मसम्मान को ठेस पहुंचती है। कभी कभी इन घरेलू हिंसाओं के कारण उनके जान को भी खतरा रहता है। इसलिए अगर आपके आसपास ऐसा दुर्व्यवहार होते हुए आपको दिखा तो, तुरंत उसे रोखने के लिए पुलिस में रिपोर्ट करे।

error: Content is protected