शहरीकरण पर निबंध (Essay on Urbanization in Hindi) – Shaharikaran Par Nibandh

प्रस्तावना

शहरीकरण  अथवा नगरीकरण स्वयं के विकास करने का अहम माध्यम समझा जाता है। जब कई मात्रा में लोग गाँवों को त्याग कर शहरों की तरफ जाने लगते है, उसे ही शहरीकरण का नाम दिया गया हैं।

शहरीकरण का सबसे ज़्यादा व महत्वपूर्ण साधन विज्ञान व वैज्ञानिक दृष्टि से उन्नत भौतिक सुख की सुख-सुविधाएं है।

शहरीकरण के लाभ

सबसे पहले शहरी क्षेत्र ग्रामीण जगहों के मुकाबले में संसाधन देने में बहुत ज़्यादा कुशल हैं। शहरी क्षेत्रों में बसने की जगह, स्वच्छ पानी व बिजली जैसी अहम और बुनियादी फायदे काफी सरलता से उपलब्ध होते हैं।

शहर में विकास कर रहे लोगों को कई प्रकार के महत्वपूर्ण सेवाओं को प्राप्त करना काफी आसान लगता है। सबसे उल्लेखनीय, ये सेवाएं उच्च-गुणवत्ता वाली शिक्षा, विशेषज्ञ स्वास्थ्य देखभाल, सुविधा प्रदान करने वाले परिवहन, मनोरंजन आदि शामिल हैं।

लेकिन एक ग्रामीण क्षेत्र में ऐसी विकसित सेवाएं नहीं होती है। शहरी क्षेत्र बहुत अधिक  रोजगार के मौके प्रदान करते हैं। ये रोजगार के अवसर औद्योगीकरण व व्यवसायीकरण के कारण हैं।

शहरी क्षेत्र ज्ञान के जननी और प्रसारकर्ता के तौर पर एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। सबसे उल्लेखनीय, शहरी क्षेत्रों में लोगों की भौगोलिक की मौजूदगी विचारों के प्रसार में बहुत सहायक होती है।

शहरीकरण एक प्रक्रिया है जो हमेशा विकास की स्थिति पर है। इसके अलावा, शहरीकरण ग्रामीण संस्कृति को शहरी संस्कृति में परिवर्तित करने का प्रयत्न करता है।

इन सबके अलावा, सरकार को तेजी से शहरीकरण में हुए वृद्धि के लिए सतर्क रहना चाहिए। एक पूर्ण रूप से शहरीकृत दुनिया हमारी दुनिया की आखिरी नियति की तरह पेश आती है।

शहरीकरण के कारक

सबसे प्रथम कारण, राजनीतिक कारक है। शहरीकरण में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। राजनीतिक क्षेत्र में शांति की नामौजूदगी के कारण कई लोग शहरी क्षेत्रों के लिए ग्रामीण क्षेत्रों को छोड़ने के लिए विवश हुए हैं।

इसी वजह से, कई परिवार भोजन और नौकरी की खोज में शहरी क्षेत्रों में जाते हैं। शहरीकरण की कोई और अहम वजह है आर्थिक कारण। ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी एक व्यापक घटना है।

किसानों को अच्छा पैसा कमाने और जीवन यापन करने में बहुत संघर्ष करना होता है। जिसका नतीजा, ग्रामीण लोग एक अच्छे रोजगार के अवसरों की तलाश में शहरी क्षेत्रों की ओर जाते हैं।

शिक्षा शहरीकरण का बहुत ही ठोस कारण है। शहरी क्षेत्र उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा देने के अवसर प्रदान करते हैं। इसके अलावा, एक शहर का विकास विश्वविद्यालयों और तकनीकी कॉलेजों में अध्ययन के लिए अवसर देता है।

इस प्रकार शहरी इलाकों के उच्च शिक्षा के अवसर ग्रामीण क्षेत्रों में कई युवा लोगों को शहरी क्षेत्रों में जाने के लिए रुचि दिखाते हैं।

निष्कर्ष

सामाजिक व आर्थिक दबावों की वजह से, कम विकास किये गाँवों के लोग नौकरी की खोज में शहरीकृत केंद्रों की ओर रुख करने लगते हैं।अगर औद्योगिक विकास में वृद्धि ज़्यादा है तो शहरीकरण की गति तेज है। शहरीकरण की गति धीरे-धीरे निचले स्तर पर हो जाती है, जब देश की कुल आबादी में शहरी आबादी का अनुपात बहुत ही अधिक हो जाता है।

error: Content is protected