बेरोजगारी पर निबंध (berojgari par nibandh) – Essay on Unemployment in Hindi

प्रस्तावना

बेरोजगारी समुदाय के लिए एक अभिशाप है। यह न केवल व्यक्तियों पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है, बल्कि बेरोजगारी पूरे समुदाय को प्रभावित करती है।

ऐसे कई कारक हैं, जो बेरोजगारी का कारण बनते हैं। यहां इन कारकों को विस्तार से समझाया गया है और इस समस्या को नियंत्रित करने के लिए संभावित समाधानों को समझाया गया है।

बेरोजगारी देश का कीड़ा

बेरोजगारी किसी भी देश के विकास में मुख्य बाधाओं में से एक है। भारत में बेरोजगारी एक गंभीर समस्या है।

शिक्षा की कमी, रोजगार के अवसरों की कमी और प्रदर्शन समस्याएं कई कारक हैं जो बेरोजगारी का कारण बनती हैं।

बेरोजगारी खत्म करने की कोशिश

इस समस्या को जड़ से मिटाने के लिए, भारत सरकार को प्रभावी कदम उठाने की जरूरत है। विकासशील देशों के सामने मुख्य समस्याओं में से एक बेरोजगार है। यह देश के आर्थिक विकास में मुख्य बाधाओं में से एक पर बल्कि व्यक्तिगत और पूरे समाज में भी कई नकारात्मक प्रभाव डालता है।

शिक्षा की कमी, रोजगार के अवसरों की कमी, कौशल की कमी, प्रदर्शन की समस्याओं और भारत में इस समस्या को बेहतर बनाने में योगदान करने वाली आबादी में वृद्धि हुई कई कारक।

व्यक्तिगत प्रभावों के साथ, इस समस्या के नकारात्मक परिणाम सभी समुदायों में देखा जा सकता है। सरकार ने इस समस्या को नियंत्रित करने के लिए कदम उठाए हैं।

बेरोजगारी का समाधान

घरेलू उद्योगों के लिए प्रोत्साहन – घरेलू उद्योग प्रोत्साहन, ऋण इत्यादि प्रदान करने के लिए घरेलू उद्योगों में सुधार करके बेरोजगारी जैसी समस्याओं को नियंत्रित करने में मदद करना।

प्राथमिकता का श्रम – अगर हमें इस समस्या को नियंत्रित करना है, तो हमें मशीन द्वारा उत्पादन की तुलना में श्रमिकों द्वारा उत्पादन को प्राथमिकता देनी चाहिएं, इसका कारण, लोगों को नौकरी मिल जाएगी और इस समस्या को नियंत्रित करने में काफी सहायता होगी।

शिक्षा प्रणाली में बढ़ोतरी – बेरोजगारी को दूर करने के लिए, हमें अपनी शिक्षा प्रणाली को बदलने या सुधारने की आवश्यकता है। हमें व्यवसाय शिक्षा प्रणाली पर ध्यान देना होगा, जो लोगों के साथ डॉक्टर इंजीनियरों आदि जैसे कार्य और योग्यता का उत्पादन कर सकते हैं।

जनसंख्या में नियंत्रण हम जनसंख्या को नियंत्रित करके इस समस्या को हल कर सकते हैं। इसके लिए हमें उनके साथ जुड़े नीति नियम बनाना चाहिए और उनका पालन करना होगा।

मशीनीकरण का नियंत्रण – मशीन द्वारा एक उत्पादन में, हमें उन श्रमिकों द्वारा उत्पादन करना होगा जो इस समस्या को नियंत्रित करने में मदद करेंगे और लोगों को नौकरी मिल जाएगी।

कई प्रकार की समस्याएं आती रहती हैं, और यह समस्या बढ़ जाती है जो भ्रष्टाचार, आतंकवाद, चोरी, डकैती, दंगों और अपहरण जैसी कई घातक समस्याओं का कारण बनती है।

निष्कर्ष

बेरोजगारी समुदाय में विभिन्न समस्याओं का मूल कारण है। यद्यपि सरकार ने इस समस्या को कम करने के लिए पहल की है लेकिन उठाए गए कदम पर्याप्त नहीं हैं। इस समस्या के कारण, प्रभावी और एकीकृत समाधान देखने के लिए विभिन्न कारकों को अच्छी तरह से अध्ययन किया जाना चाहिए। यह सरकार को इस समस्या की संवेदनशीलता को पहचानने और इसे कम करने के लिए कुछ गंभीर कदमों को पहचानने का समय है।

error: Content is protected