ऋतुराज बसंत पर निबंध (Essay on Rituraj Basant in Hindi)

हमारा भारत देश पूरी तरह से ऋतुओंका देश है। जहा का हर एक ऋतु अपने अपने समय मे आता है और इस प्रकृतिकों बदलते रहता है।

इसकी वजह से अपने देश के इस प्रकृतिकी सुंदरता और ज्यादा चमकने लगती है, मतलब और भी अच्छी लगने लगती है। अपने देश मे पूरे छह ऋतु होते है। जो हर साल आते है।

लेकिन उन सभी मे वसंत ऋतु सबसे बेहतर होता है। इस ऋतु को सभी ऋतुओं का राजा भी कहते है। जो बाकी सभी पशु पक्षियों के लिए सबसे प्यारा होता है।

वसंत ऋतु की शुरुवात

हर साल वसंत ऋतु शीत ऋतु के बाद आता है। इस ऋतु की शुरुवात हर साल फरवरी महीने मे या फिर मार्च महीने ने हो जाती है। इस ऋतु की शुरुवात होने पर खेतों मे लगाई हुई फसल पूरी तरह से पक जाती है। सरसों के खेती से सरसों के फूल खिलने लगते है।

पूरे साल मे सिर्फ इस ऋतु मे कमल के फूल खिलने लगते है। सभी पक्षियों के लिए ये ऋतु बहुत प्यारा ऋतु होने के कारण इस समय मे सभी पक्षी आसमान मे पूरा दिन टहलते रहते है। पौधों को फिरसे नए पत्तिया उगने लगती है।

सबसे बेहतर ऋतु

ये ऋतु सभी पक्षियों के लिए, पेड – पौधों के लिए और खेती मे लगाए हुए फसल के लिए सबसे बेहतर ऋतु वसंत ऋतु है। वैसे तो साल मे आने वाले सभी ऋतुओं के वजह से प्राकृतिक सुंदरता और भी बडती है।

लेकिन वसंत ऋतु सबसे अलग और बेहतर होता है। ये ऋतु बेहतर इसलिए होता है की इसकी वजह से पेड पौधे फिरसे हरे भरे होते है। पक्षी आसमान मे झुमने लगते है।

हर तरफ पूरा वातावरण पेड के नए पत्तों के वजह से हरा भरा लगने लगता है। इसलिए इस ऋतु को सभी ऋतुओं का राजा भी कहते है।

इस ऋतु की आकर्षकता

इस ऋतु का आकर्षण रहता है उसका वातावरण। अपने भारत देश मे सबसे ज्यादा प्राकृतिक सुंदरता इसी वसंत ऋतु मे आती है। वसंत ऋतु एक ऐसा ऋतु होता है जिस ऋतु मे न तो ज्यादा ठंड और न तो ज्यादा गर्मी रहती है।

इसलिए इस ऋतु मे प्राकृतिक वातावरण अच्छा रहता है। इस ऋतु मे सभी सूके हुए पेड और पौधे फिरसे एक बार खिलने लगते है। फिरसे वो नए पत्तो के साथ हरे भरे हो जाते है। उन पेड़ों पर फिरसे नए फल आते है। पक्षी आसमान के अपनी आवाज निकालकर टहलने लगते है।

इसलिए इस ऋतु मे वातावरण चारों ओर से फिरसे एक बार बहरने लगता है। चारों ओर प्रसन्नता रहती है। इसी ऋतु मे कोयल कही पेड के बीचों बीच छिपकर कुहु कुहु ऐसी आवाज करने लगती है। इसलिए ये ऋतु सभी के लिए एक आकर्षण का केंद्र है।

वसंत ऋतु का त्योहार

इस ऋतु को अपने भारत देश मे सभी लोग इतना मानते है की, यहा इस ऋतु के नाम से लोग त्योहार भी करते है। ये त्योहार वसंत पंचमी के नाम से भी जाना जाता है।

इस दिन लोग पीले रंग के कपडे पहनते है। कही सारे बच्चे पीले रंग की पतंग आसमान मे उडाते है। तो कही सारी जगह पर मेला भी लगाया जाता है।

इसी ऋतु मे होली जैसा बडा त्योहार आता है। वसंत पंचमी मे लोग देवी सरस्वती की पूजा भी करते है। इसलिए ये ऋतु सभी ऋतुओं से महान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: