भारत पर निबंध (Essay on India in Hindi)

अपना भारत देश एक ऐसा देश है, जहा कई सारे धर्म के लोग एक साथ रहते है। इसलिए अपने देश में बहुत सारी परंपराएं होती है। अलग अलग धर्म के अलग अलग त्योहार होते है।

अपने देश का ज्यादातर हिस्सा ग्रामीण भागों से भरा हुआ है। इसलिए अपने देश में खेती ज्यादा होती है और यहाकी ज्यादातर आबादी खेती पर ही निर्भर है। इसी वजह से अपने भारत देश को एक कृषिप्रधान देश कहा गया है।

अपने भारत देश में कई सारी प्राचीन संस्कृतियाँ और प्राचीन वास्तु मौजूद है। जो पूरी दुनिया में मशहूर है। जैसे की हड़प्पा संस्कृति, मोहनजोदारों आदि। इन्हे देखने लोग दूर दूर से आते है।

भारत देश की आबादी

किसी भी देश की सबसे बड़ी ताकत उस देश की आबादी होती है। जो उस देश के विकास का कारण बनती है। लेकिन अगर आबादी हद से ज्यादा बड़ने लगी तो वो देश के विकास में बाधा भी बन सकती है।

जिसमे अपना भारत देश आबादी के मामले में पूरी दुनिया में 1 अरब 37 करोड़ के साथ दूसरे क्रमांक पर आता है और 1 अरब 39 करोड़ आबादी के साथ चीन पूरी दुनिया में पहले क्रमांक पर आता है।

भारत देश के चार नाम

पूरी दुनिया में भारत एकमात्र ऐसा देश होगा, जिसके अलग अलग चार नाम है। जैसे की, सबसे पहले अपने देश को आर्यावर्त के नाम से जाना जाता था। उसके बाद अपने देश का नाम महाभारत कालीन समय में भरत राजा के नाम से भारत रखा गया था।

आगे चलकर जब अपने देश में मुगलों का साम्राज्य था, तब उन्होंने अपने देश को हिंदुस्तान नाम रख दिया और कुछ सालों बाद ब्रिटिश शासन के समय में अपने देश को अंग्रेजों ने इंडिया नाम रख दिया।

तीनो तरफ से महासागरों से घिरा हुआ भारत देश

अपने भारत देश का उत्तरी दिशा का भाग छोड़कर बाकि तीनो दिशाएं महासागरों से घिरी हुई है। जैसे की, पूर्व दिशा में बंगाल की खाड़ी, पश्चिम दिशा में अरब महासागर और दक्षिण में भारतीय महासागर (हिंदी महासागर) हैं। इस तरह अपना भारत देश तीनो तरफ से महासागरों से घिरा हुआ है।

भारत देश की राष्ट्रीय चीज़े

अपने भारत देश की कई सारी राष्ट्रीय चीज़े है। जिसमे बहुत कुछ शामिल है। जैसे की बाघ अपने देश का राष्ट्रीय पशु है। मोर अपने देश का राष्ट्रीय पक्षी है।

आम अपने भारत का राष्ट्रीय फल है। अपने भारत देश का राष्ट्रगान “जन गण मन” है और “वंदे मातरम” राष्ट्रीय गीत है। अपने भारत देश का राष्ट्रीय खेल हॉकी है।

भारत देश के विभिन्न धर्म

अपना भारत देश एक धार्मिक विविधता वाला देश है। जहा बहुत सारे धर्म के लोग प्राचीन काल से एक साथ रहते हैं। इसलिए अपने भारत देश में बहुत सारे धर्म मौजूद है। जैसे की हिंदू, बौद्ध, जैन, सिख, इस्लाम, ईसाई और यहूदी धर्म जैसे विभिन्न धर्म शामिल है।

समृद्ध जगहों का देश भारत

भारत स्मारकों, कब्रों, चर्चों, ऐतिहासिक इमारतों, मंदिरों, संग्रहालयों, प्राकृतिक सुंदरता, वन्यजीव अभयारण्यों, वास्तुकला के स्थानों से समृद्ध है।

जिससे पूरी दुनिया में अपना भारत देश बहुत ज्यादा लोकप्रिय है। इसलिए यहाँकि इन्ही सभी समृद्ध जगहों को देखने के लिए दूसरे देशों से लोग यहाँ आते है।

भारत देश का झंडा

अपने भारत देश के झंडे को हम लोग तिरंगा भी कहते है। क्योंकि यह तीन रंगो से भरा हुआ है। जैसे की ध्वज में सबसे पहले भगवा रंग होता है, जो पवित्रता की निशानी है।

उसके बाद दूसरा रंग सफ़ेद है, जो शांति का प्रतिक है और तीसरा रंग हरा रंग है, जो विकास और उर्वरता को दर्शाता है। ध्वज के सफेद रंग में नीले रंग का एक चक्र होता है, जिसे अशोक चक्र कहा जाता है। इस अशोक चक्र में चौबीस प्रवक्ता होते हैं जो समान रूप से विभाजित होते हैं।

  • कोरोनावायरस पर निबंध: Click Here
  • महिला सशक्तिकरण पर निबंध: Click Here

निष्कर्ष

भारत देश विभिन्न संस्कृतियों, जातियों, पंथों, धर्मों को मानने वाला एक महान देश है, जहा विभिन्न धर्म के लोग एक साथ रहते हैं। यही कारण है कि भारत देश में इतने सारे अलग अलग धर्म के लोग होने के बावजूद भी यहाँ विविधता में एकता है। अपना भारत देश आध्यात्मिकता, विज्ञान और प्रौद्योगिकी की भूमि होने के साथ साथ एक कृषिप्रधान देश भी है।