बतख पर निबंध (Essay on Duck in Hindi)

प्रस्तावना

बतख एक बहुत ही मनभावन औऱ बुद्धिमान जल में रहने वाला पक्षी है, जो कि जल में तैरता है और इसके दोनो तरफ लगे पंख जल में नियंत्रण रखने में सहायक होता है। यह कई रंग का पक्षी बहुत कई प्रजातियों में देखने को मिलता है।

ख़ासियत

इसकी आंखें इस पक्षी को ख़ास बनाती है क्योंकि ये दिखने में बहुत ही सुंदर औऱ गोल-गोल होती है, जो देखने में बड़ी ही आकर्षक लगती है।

पंख जलरोधी होने के कारण गीले नहीं होते है। इनकी गर्दन कुछ लम्बी होती है और चोंच थोड़ी सी चपटी होती है।

बत्तख की आवाज़

बतख जब बोलती है, तो क्वैक क्वैक की आवाज़ आती है। बतख सभी प्रकार के भोजन को ग्रहण करती है। ये छोटे-छोटे पौधे को भी अपना भोजन बनाती है और इसके अलावा कीड़े मकोड़े भी खा लेती है।

बतख देखने में एक बड़ा ही लुभावने प्रतीत होते हैं। इसके अलावा ये जल में अपना घर बनाई हुई होती है और साथ ही साथ यह उड़ने में भी इससे संबंधित पक्षियों से आगे होता है। बत्तख विविध रंगों से इस धरती का सौभग्य बनाये हुए हैं।

जल के योग्य पक्षी

इनकी आँखे गोल आकार में बनी होती है, जो देखने में बड़ी ही प्यारी लगती है। बतख के पंख जलरोधी होते है, जो कि बतख को आसानी से जल में रहने के लिए पूर्ण रूप से तैयार करते है।

बत्तख के पंख इन्हें तैरने में मदद करते है, जो जल में इतने समय तक रहने के बाद भी गीले नहीं होते है। बत्तख के गर्दन का आकार थोड़ा लंबा होता है और चोंच थोड़ी सी चपटी जैसी दिखती है।

ये पक्षी जब आवाज़ निकालती है, तो क्वैक क्वैक की आवाज़ निकालती है। इन्हें हर तरह के भोजन को खाने की आदत है। ये छोटे-छोटे पौधे भी खाती है और हर तरह के कीड़े भी खाती है।

उम्र की सीमा

बत्तख का उम्र 2 से 12 बर्ष तक सीमित होता है। ये अंडे देने वाला पक्षी है। बतख पूरी दुनिया में इतनी लोकप्रिय है कि, इससे प्रेरणा लेकर इन्ही की बनाबट का एक कार्टून तैयार किया गया, जो डोनाल्डक के नाम से प्रसिद्ध है। ये कार्टून बच्चो को बहुत ज़्यादा पसंद है।

निष्कर्ष

तालाब, झरना, नदी आदि स्थानों को बतखों के रहने के लिए बहुत ही प्रिय स्थान माना जाता है। इनके नाखून जाली वाले होते हैं और पंख बहुत ही तीक्ष्ण होते होते है जो इन्हें पानी में अधिक समय तक रहने और तैरने में मदद करते है।

Leave a comment

error: Content is protected