15 अगस्त पर निबंध हिंदी मे (Essay on 15 August in Hindi)

अपने भारत देश के इतिहास में सबसे यादगार दिनों में से एक 15 अगस्त है। ये वो दिन है जिस दिन भारतीय उप-महाद्वीप को लंबे संघर्ष के बाद स्वतंत्रता मिली। भारत में केवल तीन राष्ट्रीय त्यौहार हैं जिन्हें पूरे देश में मनाया जाता है।

पहला है स्वतंत्रता दिवस जो हर साल 15 अगस्त के दिन के दिन आता है, दूसरा है गणतंत्र दिवस जो हर साल 26 जनवरी के दिन आता है और तीसरा त्यौहार है।

गांधी जयंती जो 2 अक्टूबर को आता है। स्वतंत्रता के बाद, भारत दुनिया में सबसे बड़ा लोकतंत्र बन गया। हमने अंग्रेजों से अपनी आजादी पाने के लिए बहुत संघर्ष किया।

देश के स्वतंत्रता दिवस का संघर्ष

हमारे देश में करीब दो शताब्दियों तक अंग्रेजों ने हम पर शासन किया। इन अत्याचारियों के कारण देश के नागरिक को बहुत नुकसान उठाना पड़ा। ब्रिटिश अधिकारी हमारे साथ गुलामों की तरह व्यवहार करते हैं जब तक कि हम उनके खिलाफ वापस लड़ने का प्रबंधन नहीं करते।

हमने अपनी स्वतंत्रता के लिए संघर्ष किया लेकिन अपने नेताओं जैसे की, जवाहर लाल नेहरू, सुभाष चंद्र बोस, महात्मा गांधी, चंद्र शेखर आज़ाद और भगत सिंह के मार्गदर्शन में अथक और निस्वार्थ भाव से काम किया। इनमें से कुछ नेता ने हिंसा का रास्ता चुना था और कुछ ने अहिंसा का चयन किया था। लेकिन इनका अंतिम उद्देश्य देश से अंग्रेजों को भगाना था। इसलिए आगे चलकर कुछ सालों बाद 15 अगस्त 1947 के दिन लंबे समय से प्रतीक्षित सपना सच हो गया।

स्वतंत्रता दिवस के कारण

अपने अपने भारत देश का वो आज़ादी का दिन जब वह पहली बार हुआ, वो दिन याद करने के लिए और स्वतंत्रता की भावना का आनंद लेने के लिए हम स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं।

उन स्वतंत्र सैनिकों के जीवन के बलिदानों को याद करना है जो हम इस संघर्ष में खो चुके हैं। हम इस त्यौहार को यह याद दिलाने के लिए मनाते है कि, यह आजादी जो हमें मिलती है, वह एक कठिन रास्ता है। यह उत्सव हमारे अंदर के देशभक्त को जगाता है। उत्सव के साथ, युवा पीढ़ी उस समय के लोगों के संघर्षों से परिचित होती है।

स्वतंत्रता दिवस का उत्साह

यह एक राष्ट्रीय दिन है, इसलिए अपने देश के सभी लोग इस दिन को बहुत उत्साह के साथ मनाते हैं। स्कूल, कार्यालय, कॉलेज और सभी जगह इस दिन के लिए बहुत सारे छोटे और बड़े कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं।

इस दिन दिल्ली में स्थित लाल किले में हर साल अपने भारत देश के प्रधान मंत्री राष्ट्रीय ध्वज की मेजबानी करते हैं। इस दिन के सम्मान में, 21 गोलियां चलाई जाती हैं। यह एक मुख्य आयोजन होता है। यह आयोजन सेना की परेड के बाद होती है।

देश के सभी स्कूल और कॉलेज इस दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम, बहुत सारी प्रतियोगिताए, स्वतंत्रता दिन पर भाषण और प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन करते हैं।

स्वतंत्रता दिवस के दृष्टिकोण

अपने भारत देश का हर नागरिक भारत देश के स्वतंत्रता के बारे में एक अलग दृष्टिकोण रखता है। कुछ लोगों के लिए यह लंबे संघर्ष की याद दिलाता है जबकि सभी युवाओं के लिए यह त्यौहार देश के गौरव और सम्मान के लिए बना है। इस तरह कई दृष्टिकोण से हम देश भर में देशभक्ति की भावना देख सकते हैं।

देश भर में राष्ट्रवाद और देशभक्ति की भावना के साथ भारतीय स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं। इस दिन हर नागरिक उत्सव की भावना और लोगों की विविधता और एकता में गर्व करता है। यह न केवल स्वतंत्रता का उत्सव है, बल्कि देश की विविधता में एकता का भी प्रतीक है।

One thought on “15 अगस्त पर निबंध हिंदी मे (Essay on 15 August in Hindi)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: