पर्यावरण के मुद्दों पर निबंध (Environmental Issues Essay in Hindi)

इस धरती पर जीवसृष्टि निर्माण होने के पीछे यहाँ पर चारो तरफ फैला हुआ पर्यावरण एक मुख्य भूमिका निभाता है। लेकिन पृथ्वी के इस पर्यावरण में असंतुलन निर्माण होने के पीछे कई सारे मुद्दे है, जो हम इंसानों की वजह से निर्माण हुए है।

जिसकी वजह से इस धरती पर रहने वाले पुरे जीवसृष्टि को बहुत ज्यादा हानी पोहोंच रही है। जिसमे कई सारे मुद्दे शामिल है। जैसे की ग्लोबल वार्मिंग, ग्रीनहाउस गैस और कई सारे प्रकार के प्रदुषण।

जिसमे हमारी बढ़ती गतिविधियों के कारण इस पर्यावरण की गुणवत्ता हर दिन लगातार कम होती जा रही है। जिस कारण भविष्य में पुरे धरती का जीवन बहुत बड़े खतरे में आ सकता है।

प्रदूषण

इस पृथ्वी के पर्यावण को नुकसान पोहोचाने वाले मुद्दों में प्रदूषण एक प्रमुख मुद्दा है। जिस कारण पुरे पर्यावरण को बहुत ज्यादा नुकसान हो रहा है। यह प्रदुषण कई सारे माध्यमों से इस धरती पर फ़ैल रहा है। जैसे की हवा, पानी, मिट्टी और शोर। आज के समय में जिस तरह पूरी दुनिया बहुत तेज़ी से आगे बढ़ रही है, उस कारण पिछले कुछ दशकों में उद्योगों की संख्या भी बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है।

जिसमे कई सारे उद्द्योग अपने अनुपचारित कचरे को जल में, मिट्टी पर और हवा में स्त्रावित करते हैं। इनमें से अधिकांश कचरे में हानिकारक और जहरीली सामग्रियां होती हैं जो जल निकायों और हवा के संचलन के कारण बहुत आसानी से फैलती हैं।

वायु प्रदूषण

ग्रीनहाउस ग्यासों की वजह से इस दुनिया के तापमान में वृद्धि होती जा रही है। जिसकी वजह से वायु प्रदुषण का निर्माण होता है। इसका कारण है, वाहन और कारखानों द्वारा निर्माण होने वाला प्रदूषित जहरीला रसायन।

जो हवा में छोड़ दिया जाता है। इस प्रदूषित जहरीला रसायन की वजह से पृथ्वी के जीवन और पर्यावरण को बहुत ज्यादा नुकसान होता है।

जलवायु परिवर्तन

पर्यावरण में प्रदूषण होने के कारण जलवायु तेजी से बदल रही है जिसकी वजह से स्मॉग, एसिड बारिश जैसी चीजें आम हो रही हैं। जलवायु परिवर्तन क वजह से प्राकृतिक आपदाओं की संख्या भी बढ़ रही है।

जैसे की लगभग हर साल बाढ़, अकाल, सूखा, भूस्खलन, भूकंप, और ऐसे ही कई सारी आपदाएँ बढ़ती जा रही हैं।

पर्यावरण के मुद्दे को कम करने के तरीके

हम इंसानों की वजह से इस पर्यावरण का बहुत बड़ा नुकसान हुआ है। जिसमे कई सारे प्रदूषण शामिल है। इसके लिए हम इंसान ही जिम्मेदार है। इसलिए पर्यावरण के इस मुद्दे के लिए कई सारे तरीके अपनाने होंगे।

जो पर्यावरणीय मुद्दों से लड़ने में हमारी मदद करेंगे। यह मुद्दे सिर्फ पर्यावरण को नहीं बल्कि पृथ्वी का जीवन और प्राकृतिक संतुलन को भी बचाएंगे।

जैसे की वनीकरण, केमिकल कंपनियों पर बंदी, अपने आस पास का परिसर स्वच्छ रखना, वायु प्रदूषण कम करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियों को बढ़ावा देना, नदी नालों में कचरा ना फेंकना और ऐसे ही बहुत सारे तरीके है, जिसकी मदत से हम पर्यावरण को प्रदूषणमुक्त कर सकते है।

निष्कर्ष

हम इंसान पर्यावरण के मुद्दों का प्रमुख कारण है। जिसकी वजह से पर्यावरण में हानिकारक गैसों और प्रदूषण का स्तर हर दिन बड़ते जा रहा है। यह समस्या हमारी वजह से ही बड़ रही है। इसलिए हम इंसानों को ही इस समस्या को गंभीरता से लेना चाहिए और इसे पूरी तरह से खत्म करना चाहिए। यदि हम लोग पर्यावरण में फैल रहे प्रदूषण को एक साथ मिलकर योगदान करेंगे तो इस धरती का संपूर्ण प्रदूषण पूरी तरह से समाप्त हो जाएगा और प्राकृतिक संतुलन भी पहले जैसा बना रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: