कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं? (Computer ke Prakar)

इस दुनिया में ऐसा कोई भी नही होगा जिसने एक कंप्यूटर का उपयोग नहीं किया होगा, क्योंकि इस समय यह सभी स्थानों पर देखा जा सकता है फिर चाहे वह एक स्कूल हो या फिर एक कार्यालय।

केवल एक ही चीज को देख सकते हैं कि, ये सभी कंप्यूटर एक समान नहीं हैं, जो काम आएंगे। जहां कुछ कंप्यूटर बहुत छोटे होते हैं, तो कुछ बड़े आकार होते हैं।

अगर कहीं बहुत तेज नौकरियां हैं, तो कुछ धीमी नौकरियां भी हैं सभी के ज़रूरत के मुताबिक कंप्यूटर द्वारा कार्य उपलब्ध है। इस सब में ध्यान देने वाली बात यह है कि क्या ये सभी कंप्यूटर एक प्रकार के हैं या वे एक दूसरे से भिन्न हैं।

कार्यप्रणाली के आधार पर कम्प्यूटर के प्रकार:

  • एनालॉग कंप्यूटर

एनालॉग कंप्यूटर एक प्रकार का कंप्यूटर कहलाता है, जो जानकारी प्रदर्शित करने के लिए एनालॉग सिग्नल का इस्तेमाल करते हैं। एनालॉग डेटा का इस्तेमाल एनालॉग डेटा को संसाधित करने के लिए किया जाता है।

  • डिजिटल कंप्यूटर

डिजिटल कंप्यूटर, जैसे कि उनके नाम से पता चलता है कि उन्होंने कहा कि यह अंक उस संख्या, अन्य विशेष पत्र या प्रतीकों के साथ काम करता है।

  • हाइब्रिड कंप्यूटर

हाइब्रिड कंप्यूटर में असलियत में डिजिटल कंप्यूटर और एनालॉग का अदभुत मिश्रण हैं। इसमें दोनों प्रकार के कंप्यूटर संयुक्त अंबिन हैं।

उद्देश्य के आधार पर कंप्यूटर का प्रकार:

उद्देश्य के मुताबिक ये दो रनों में कुछ लक्ष्यों और सामान्य लक्ष्यों के तौर पर कंप्यूटर को बांटा गया हैं।

  • कंप्यूटर सामान्य उद्देश्य

उस समय अधिकांश कंप्यूटर एकमात्र कंप्यूटर सामान्य लक्ष्य से ईजाद किये गए हैं – उन्हें विविधता प्रसंस्करण कार्य के लिए बहुत कुछ बनाया जाएगा।

  • कंप्यूटर विशेष उद्देश्य

जैसा कि नाम से ही ज्ञात होता है कि, किसी विशेष लक्ष्य के लिए इस कंप्यूटर को कुछ प्रकार के कार्यों के लिए डिज़ाइन किया गया है और केवल कुछ समस्याओं पूर्ण निष्कर्ष जानने के लिए। इसलिए उन्हें समर्पित कंप्यूटर भी कहा जाता है।

कंप्यूटर प्रकार आकार के आधार पर

कंप्यूटर के मुताबिक, हम निम्नलिखित श्रेणियों में साझा करते हैं, जिनकी जानकारी आपको उन्नत लेखों में दिया जाएगा –

  • सुपर कंप्यूटर

यह बहु-कंप्यूटर कंप्यूटर, एक बड़ा मल्टीप्रोसेसर, जो दक्षता होती है और क्षमता को भी इकठ्ठा करती है। यह सुपरकंप्यूटर बहुत कठिन और जटिल समस्याओं को हल करने के लिए कार्य में लाया जाता है।

वे कुछ सेकंड में भी नैनो के जैसे कार्य करते हैं। कई आरआईएससी प्रोसेसर जिसे कंप्यूटर सेट निर्देश सेट भी कहा जाता है, इसका  उपयोग इसे बनाने के लिए किया जाएगा।

  • मेनफ्रेम कंप्यूटर

यह एक सुपर कंप्यूटर के ही भांति डिज़ाइन किया गया  है, जो दोनों में मुख्य अंतर है, यह एक सुपरकंप्यूटर है जो सभी कच्चे पावर का इस्तेमाल करता है, यह केवल कुछ लक्ष्यों के लिए भी होता है, अहम रूप से मेनफ्रेम का इस्तेमाल करने के लिए एक ही कार्य होता है। इसका उपयोग एक साथ किया जाता है।

  • मिनी कंप्यूटर

मिनिकंप्यूटर अधिक तौर पर मेनफ्रेम कंप्यूटर सिस्टम के मुताबिक सबसे छोटे और कम शक्तिशाली माइक्रो कंप्यूटर की तुलना में बड़े और मजबूत होते हैं।

  • माइक्रो कंप्यूटर

माइक्रो कंप्यूटर को एक व्यक्तिगत कंप्यूटर भी कहा जाता है। क्योंकि यह वो कंप्यूटर है जिसे एक ही समय में उपयोगकर्ता काम करने के उद्देश्य से बनाया गया है।

  • सभी प्रकार के निबंध यहा देखे: Click Here
  • सभी प्रकार के निबंध यहा देखे (अंग्रेजी भाषा में): Click Here

Leave a comment

error: Content is protected