कर्म ही पूजा है पर निबंध (work is worship essay in hindi)

प्रस्तावना हम अपने जीवनकार्य में बहुत काम करते हैं। कार्य से तात्पर्य यह है कि कड़ी मेहनत और जुनून के साथ किया जाने वाला काम और अगर इसे एक ही कड़ी मेहनत में धकेल दिया जाता है, तो यह पूजा बन जाता है। मानव जीवन एक हकीकत में अर्थहीन मानी गयी है। कर्म मनुष्यों का … Read more

सच्ची मित्रता पर निबंध (True Friendship Essay in Hindi) – sacchi mitrata par nibandh, sacchi mitrata par anuched

प्रस्तावना एक कहावत है जो बहुत प्रचलित है-यार की खातिर तो कांटे भी कबूल है। ये बात जितनी सत्य है उतनी ही कीमत होती गई है मित्रता की। मनुष्य को उनके रिश्ते जन्म से ही प्राप्त होते है, तात्पर्य, भगवान ने इसे बनाया है, लेकिन दोस्ती एक रिश्ते है जिसका चयन स्वयं हम ख़ुद करते … Read more

मेरे पड़ोसी पर निबंध (Essay on my neighbour in hindi) – mera padosi par nibandh

प्रस्तावना जो हमारे घर के पड़ोस में रहते हैं वे  हमारे पड़ोसी कहलाते हैं। एक पड़ोसी बहुत ही उपयोगी होते हैं। दुःख की घड़ी में सदैव हमारी सहायता करते हैं। सब पड़ोसियों को एक दूसरे के साथ मदद करनी चाहिए और मिल जुलकर रहना चाहिए। मेरे पड़ोसी ऐसे ही एक पड़ोसी हैं हमारे जीन का … Read more

error: Content is protected