हिंदी दिवस पर 10 लाइन (10 lines on Hindi Diwas in Hindi)

  1. 14 सितंबर 1953 के दिन हिंदी भाषा को एक राष्ट्रभाषा के रूप में घोषित किया गया था, तब से हर साल 14 सितंबर के दिन को लोग राष्ट्रीय हिंदी दिवस के रूप में मनाते है।
  2. वही विश्व हिंदी दिवस हर साल 10 जनवरी को मनाया जाता है, जिसकी शुरुवात 10 जनवरी 2006 को हुए थी। जब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी ने इसी दिन को विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी।
  3. हिंदी दिवस को 14 सितम्बर को मनाने की सबसे प्रथम कोशिश वर्ष 1949 से हुई थी।
  4. इस दिन भारत की संविधान सभा ने हिंदी भाषा को राजभाषा का दर्जा दिया था, तभी से इस भाषा के प्रचार-प्रसार के लिए हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाने लगा।
  5. यह भारत के प्रत्येक व्यक्ति के लिए गर्व और सम्मान का क्षण था जब भारत की संविधान सभा ने हिंदी भाषा को देश की आधिकारिक भाषा के रूप में स्थान दिया।
  6. देश के कानून ने उसी भाषा को मंजूरी दी और देवनागरी लिपि में छपी हिंदी राष्ट्रभाषा के रूप में उभरी।
  7. 14 सितंबर को देश के संविधान ने अपनी राजभाषा के रूप में हिंदी को महत्व दिया और उसके बाद हर साल इसे लोगों द्वारा हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  8. देश का हर स्कूल हिंदी पर जोर देते हुए हिंदी दिवस पर खुले तौर पर कविता और कहानी कहने की प्रतियोगिताओं और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का प्रतिनिधित्व करता है।
  9. हिंदी दिवस के दिन देश के लिए महान काम करने वालों को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में राष्ट्रपति द्वारा देश की ओर से पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है।
  10. देश का यह राष्ट्रभाषा पुरस्कार कई सरकारी क्षेत्रों, मंत्रालयों, राष्ट्रीयकृत बैंकों और देश के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम में दिया जाता है।
error: Content is protected