संगीत पर निबंध (Essay on Music in Hindi)

संगीत हम सभी के जीवन के विभिन्न क्षणों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह एक व्यक्ति के जीवन में खुशी और आनंद फैलाता है। संगीत हमारे जीवन में आत्मा एक भाग है जो हमें असीम शांति देता है।

विलियम शेक्सपियर के शब्दों में,

यदि संगीत प्रेम का भोजन है, तो उसे अपने दिल के अंदर ग्रहण कर लो, मुझे इसकी अधिकता दो जिससे मुझे इस भूख से बचा जा सकता है। जिसके लिए कई लोग इस प्रेम की भूख के लिए मर जाते हैं।

इस प्रकार, संगीत हमें अपनी आत्माओं को से जुड़ने में मदद करता है।

संगीत का परिचय

संगीत एक मधुर ध्वनि है जो धुन और सामंजस्य का एक संयोजन है और जो आपको पूरी तरह से सुकून देती है। संगीत विभिन्न संगीत वाद्ययंत्रों की मदद से ऐसी सुखद ध्वनियों की रचना करने की एक कला है। एक व्यक्ति जो संगीत जानता है वह एक संगीतकार है।

संगीत में सरगम, राग, ताल आदि शामिल हैं। संगीत न केवल पुरुषों से बना है, बल्कि प्रकृति में भी मौजूद है। क्या आपने कभी झरने या बहती नदी की आवाज़ सुनी है? क्या आप वहां संगीत सुन सकते हैं? इस प्रकार, सद्भाव में सब कुछ संगीत है। एक महान संगीतकार वुल्फगैंग अमाडेस मोजार्ट ने एक पंक्ति को उद्धृत किया है, जो सबसे महान संगीतकारों में से एक है, “संगीत नोटों में नहीं है, लेकिन बीच में मौन है।”

संगीत का महानता

संगीत में व्यक्ति को भावनात्मक और मानसिक रूप से ठीक करने के महान गुण होते हैं। संगीत ध्यान का एक रूप है। संगीत की रचना करते या सुनते समय लोग अपनी सारी चिंताओं, दुखों और पीड़ाओं को भूल जाते हैं।

लेकिन, अच्छे संगीत की सराहना करने के लिए, हमें अपने संगीत के स्वाद की रचनाकरने की आवश्यकता है। यह कहा जा सकता है कि द्वापर युग में, भगवान कृष्ण की बांसुरी से निकलने वाले संगीत से गोपियाँ मंत्रमुग्ध हो जाती थीं।

वे खुद को उसके सामने आत्मसमर्पण कर देते। संशोधकों ने किए हुए एक शोध में ये भी पता चला है कि, जो पौधे संगीत सुनते हैं, वे दूसरों की तुलना में तेज गति से बढ़ते हैं।

संगीत की ताक़त

इसमें चिंता, अवसाद, अनिद्रा आदि जैसी बीमारियों को ठीक करने की शक्ति है। संगीत की शक्ति का वर्णन तानसेन द्वारा राग मेघ मल्हार गाकर और राग दीपक द्वारा दीप प्रज्जवलित करके वर्षा लाने के बारे में किंवदंतियों द्वारा किया जा सकता है।

यह एकाग्रता में सुधार करने में भी मदद करता है और इस प्रकार छात्रों को बहुत मदद मिलती है।

निष्कर्ष

संगीत हमारे जीवन का सार है, हमारे जीवन में आत्मा का एक हिस्सा है। जिस भी चीज़ में प्रेम है वहा संगीत होता है। हमारी श्वास की भी एक लय संगीत का ही एक भाग होती है। इस प्रकार, हम कह सकते हैं कि प्रत्येक मनुष्य या एक जीवित प्राणी में संगीत है। संगीत में लोगों को हर तरह की भावनाओं को व्यक्त करने की क्षमता है। संगीत भी ईश्वर से जुड़ने का एक बहुत शक्तिशाली साधन है। इसलिए संगीत भगवान की पूजा का सबसे शुद्ध रूप है और हमारी आत्मा से जुड़ने का सबसे आसान मार्ग है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: