मेरे पिता पर निबंध हिंदी में (Essay on my father in hindi)

प्रस्तावना

पिता वह होता है जो अपने बच्चों और परिवार को खुश करने के लिए सिर्फ अपनी खुशी और जीवन का बलिदान करता है।

आमतौर पर, एक पिता का प्यार किसी का ध्यान नहीं जाता है क्योंकि वे वही होते हैं जो हमें यह नहीं दिखाते हैं कि, वे हमारे जीवन को बेहतर बनाने के लिए क्या कर रहे हैं।

पिता और माता दोनों स्वर्ग से आशीर्वाद हैं, इसलिए हमें उन सभी बलिदानों को स्वीकार करना चाहिए जो उन्होंने हमें खुश करने के लिए किए हैं। मेरे पिता मेरे आदर्श हैं और कोई दूसरा विचार नहीं है जिसके बारे में मैं कह सकता हूं, वह मेरे जीवन के सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति हैं।

मेरे पिता

हर कोई मानता है कि उनके पिता अलग-अलग हैं, हालांकि, यह सुनिश्चित करने के लिए एक चीज समान है और वह है परिवार के लिए उनका प्यार। मेरे पिता एक सेवानिवृत्त स्कूल के प्रिंसिपल हैं और वे मेरे जीवन में सबसे अनुशासित पुरुषों में से एक हैं।

वह एक महान व्यक्तित्व वाले व्यक्ति हैं क्योंकि वे हमेशा लोगों की मदद के लिए तैयार रहते हैं, उन्होंने समाज के उत्थान के लिए कई सामाजिक कार्य किए हैं और हमेशा मुझे वही सिखाया है।

उन्हे एक जोशीला और शांत स्वभाव मिला है, वह हमेशा हमें हंसाने और जीवन की सारी खुशियाँ देने की पूरी कोशिश करता है। वह मेरी मां से प्यार करता है और उसने हमेशा हमारे परिवार के लिए जो किया है, उसके लिए उसका सम्मान करता है।

खैर, मैं हमेशा उसकी प्रशंसा करता हूं और कभी-कभी यह सोचता हूं कि उसने मेरे लिए इतने काम किए हैं कि मैं उसे कभी धन्यवाद नहीं दे सकता और हमेशा उनके प्यार के कर्ज में डूबा रहूंगा।

उन्होंने हमें सर्वश्रेष्ठ स्कूलों और कॉलेजों में शिक्षित करने के लिए सर्वोत्तम संभव प्रयास किए ताकि हम जीवन में सफल हो सकें। मेरे पिता ने हमें घर पर हमेशा सहज बनाया है, हम बिना डांट के डर के उनके साथ सब कुछ साझा कर सकते हैं।

उन्हे एक मिलनसार स्वभाव मिला है और मैं अपने जीवन के सबसे अच्छे और बुरे हिस्सों को उनके साथ साझा कर सकता हूं, वह हमेशा सुनने के लिए तैयार रहते है।

निष्कर्ष

मेरे पिता ने हमेशा मुझे खुद पर विश्वास करने के लिए प्रोत्साहित किया और आज मैं जो कुछ भी हूं, वह अपने पिता के लिए एहसानमंद हूं। वह एक महान दृष्टि वाले व्यक्ति हैं और मैं भी उनके जैसा बनना चाहता हूं ताकि मैं परिवार के भीतर और बाहर सभी से उतना ही सम्मान और प्यार अर्जित कर सकूं जितना उन्होंने कमाया है।

  • महिला सशक्तिकरण पर निबंध: Click Here
error: Content is protected