माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला की जीवनी हिंदी मे

हम सभी लोग जानते है, की माइक्रोसॉफ्ट एक ऐसी कंपनी है जो पूरी दुनिया मे सबसे बडे कंपनीयों मे से एक है। ऐसी कंपनी का सीईओ अगर अपने भारत देश के वंश का हो, तो ये कितनी अभिमान कारक बात है।

आज अपने भारत देश का ही एक इंसान जो अभी भले ही अमेरिकन नागरिक है लेकिन उसका जन्म अपने भारत देश मे हुआ था।

वो भी एक भारतीय परिवार से ही है। इस व्यक्ति का नाम सत्य नडेला है। आज हम इस लेख मे इसी महान व्यक्ति के बारेमें जानेंगे।

सत्य नडेला का जन्म और शिक्षा

सत्य नडेला का जन्म 19 अगस्त 1967 मे अपने देश के राज्य आंध्र प्रदेश मे स्थित हैदराबाद शहर मे हुआ था।

सत्य नडेला माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के सीनियर आई.टी.एग्जीक्यूटिव और माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के सीईओ है। वे भले ही आज अमेरिकन नागरिक है। लेकिन उन्होंने अपनी शुरुवाती पढ़ाई भारत देश मे ही की थी।

सत्य नडेला ने भारत देश मे मनिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी और आगे की पढ़ाई अमेरिका मे की जिसमे विस्कॉन्सिन विश्वविद्यालय मिल्वौकी से और बूथ स्कूल ऑफ़ मैनेजमेंट शिकागो विश्वविद्यालय से। उन्होंने अभी तक BS, MBA और MSCS की पढ़ाई की है।

माइक्रोसॉफ्ट का सफर

सत्य नडेला पूरी दुनिया की सबसे बडी सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट मे एक सीईओ पद पर काम कर रहे है।

सत्य नडेला से पहले इस कंपनी के सीईओ पद पर स्टीव बामर थे। लेकिन 4 फरवरी 2014 को उनकी जगह पर सत्य नडेला को चुना गया था।

सत्य नडेला ने माइक्रोसॉफ्ट कंपनी मे साल 1992 से काम करना शुरू कर दिया था। वो सीईओ बनने से पहले उन्होंने इस कंपनी के हर एक पद पर काम किया है। सत्य नडेला क्लाउड एण्ड एंटरप्राइज ग्रुप के एग्ज़ीक्युटिव वाइस प्रेजिडेंट भी बने थे।

सत्य नडेला का शुरुआती जीवन

सत्य नडेला अपने भारत देश में एक तेलुगु परिवार में जन्मे थे। उनका जन्म 19 अगस्त 1967 में हैदराबाद शहर में हुआ था। उनके पिता का नाम बुक्कापुरम नाडेला युगांधर है वह एक भारतीय प्रशासनिक सेवा के एक अधिकारी थे।

सत्य नडेला ने अपने स्कूल की शिक्षा एक हैदराबाद के पब्लिक स्कूल में की थी। स्कूल की पढ़ाई होने के बाद उन्होंने आगे चलकर मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में इलेक्ट्रिक इंजीनियर की पढ़ाई की थी।

उसके बाद इलेक्ट्रिक इंजीनियर की पढ़ाई पूरी करने के बाद वह अमेरिका में विस्कॉन्सिन विश्वविद्यालय में कंप्यूटर साइंस में एमएस किये और आगे चलकर उन्होंने एमएस में डिग्री हासिल की। बाद में उन्होंने शिकागो विश्वविद्यालय में बूथ स्कूल ऑफ मैनेजमेंट से एमबीए किया था।

कंप्यूटर में रुचि

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला को बचपन से ही कंप्यूटर में और कंप्यूटर साइंस में रुचि रही है। इसलिए उन्होंने स्कूल की पढ़ाई होने के बाद उन्होंने मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में मौका ढूंढ के देखा लेकिन वहां और अपने पूरे देश में किसी भी यूनिवर्सिटी में इस तरह का कोर्सेज उपलब्ध नहीं था।

इसलिए सत्य नडेला इस पढ़ाई के लिए अमेरिका चले गए और वहां उन्होंने कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई पूरी करने के बाद सन माइक्रोसिस्टम नाम के कंपनी में कुछ साल तक काम किया था।

उसके बाद उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट कंपनी जॉइन कर ली थी और अभी तक वो उसी कंपनी के साथ जुड़े हुए हैं। इस तरह उन्होंने खुद की कंप्यूटर की रूचि की वजह से अपना करियर बना लिया।

कंपनी के प्रमुख पद

जब सत्य नडेला ने साल 1992 में माइक्रोसॉफ्ट की कंपनी ज्वाइन की थी तब से इस कंपनी से जुड़े हुए है। उन्होंने जॉइनिंग के दिन से लेकर आज तक इस कंपनी में बहुत सारी पदों पर काम किया है।

सत्य नडेला फरवरी 2011 से लेकर फरवरी 2014 तक इस कंपनी के सरवर और टूल्स डिवीजन के अध्यक्ष थे। मार्च 2004 से लेकर फरवरी 2011 तक इस कंपनी में वह ऑनलाइन सर्विसेज डिवीजन में बतौर वरिष्ठ उपाध्यक्ष थे। उसके बाद आगे चलकर वह माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के बिजनेस डिवीजन के उपाध्यक्ष बने थे।

वह आगे चलकर इस कंपनी में बिजनेस सॉल्यूशन एंड सर्च एंड एडवरटाइजिंग प्लेटफार्म के कॉर्पोरेट उपाध्यक्ष थे। क्लाउड और एंटरप्राइज प्रभाग के कार्यकारी उपाध्यक्ष भी थे। और आज सत्य नडेला इसी कंपनी के सीईओ पद पर काम कर रहे हैं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: