जल संरक्षण पर निबंध (Essay on Water Conservation in Hindi)

पुरे दुनिया मे सभी जीवों के लीए सबसे जरूरी चीज होती है जल। जिसकी वजह से आज पुरी दुनिया का हर जीव इस धरती पे पनप रहा है।

हर एक जीव को जैसे खाणे के लिए खाना चाहिये वैसे ही पीने के लीए जल ही चाहिये। बिना खाना खाए दुनिया का कोई भी जीव थोडे दिन तक जिंदा रह सकता है।

लेकिन पाणी के बिना कोई भी मनुष्य एक हप्ते से ज्यादा नही जी सकता। इसलिए जल के बिना जीवन अधुरा है।

जल एक वरदान

कोई भी जीव जल के बिना जिंदा नही रह सकता, क्योंकि जल सभी के लीए एक महत्व पूर्ण घटक है। जल के वजह से ही सभी जीव अपनी जिंदगी जी रहे है। इसलिए जल सभी जीवों के लिए एक अनमोल रत्न है।

इस प्रकृतीने हम सभी को दिया हुवा एक वरदान है। इसी वरदान के वजह से सभी जीव आज जिंदा है। हम लोग खाना तो खा रहे है, लेकिन ये खाना भी जिस पेड से मीला है उस पेड को भी पाणी की जरूरत है। तभी तो हमे खाना मील रहा है।

जल की आवश्यकता

इस दुनिया मे जल बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण घटक है। इस धरती पर अगर जीवन जिना है तो सबसे पहले जल की जरूरत होती है। इसलिए जल सभी के लीए एक किमती घटक है।

अपनी धरती पर जितना जल है, उसमे से सिर्फ 1% पाणी पीने लायक है। अगर आज पुरे धरती पर पाणी नही होता तो यहाका जीवन पुरी तरह से खत्म हो सकता है। इसलिए जल सभी के लिए एक आवश्यक घटक है।

जल की कमी

हर साल जहा गर्मीयों का मौसम आता है तब वहा के जमीन के नीचे का पाणी धीरे धीरे सुकने लगता है। तब पाणी की कमी महसुस होने लगती है। नदीया सुकने लगती है।

तब बाकी के जीवों के लीये पीने का पाणी मिलना बहुत मुस्किल हो जाता है। तब पाणी ना मिलने के वजह से वो सभी जीवों की मृत्यू हो जाती है। इसलिए जल का उपयोग संभाल के करना चाहिये। नही तो एक दिन ऐसा आयेगा की उस दिन पीने के लिए पाणी नही बचेगा।

पाणी का इस्तेमाल

इस धरती पर पाणी का इस्तेमाल हर जगह किया जाता है। दुनिया के आधे से ज्यादा काम पाणी के बिना कभी नही हो सकते है। शहरी भाग मे पाणी का उपयोग कारखानों मे या फिर औद्योगिक क्षेत्र मे किया जाता है।

ग्रामीण भागो मे पाणी का उपयोग खेती के लीये किया जाता है। इसी के साथ जानवरों को भी पाणी की बहुत ज्यादा जरूरत होती है। उसमे सभी जीव आते है, चाहे वो किडे माकोडे ही कयू ना हो।

प्रकृती की देण

इस दुनिया मे प्रकृतीने हमे पाणी के रूप मे बहुत बडा वरदान दिया है। जो पुरी दुनिया के लीए एक महत्वपूर्ण घटक है। इसलिए प्रकृतीने दिये हूए इस वरदान का हमे खयाल रखना चाहिये।

गैरकाम के लिए पाणी का उपयोग करके उसकी बरबादी नही करनी चाहिये। इसलिए जल की ज्यादा से ज्यादा बचत करनी चाहिए उसकी वजह से जल का संरक्षण हो सकता हैं| पाणी की कमी नही महसुस होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: