कृषि पर निबंध हिंदी में (Essay on agriculture in hindi)

प्रस्तावना

कृषि मिट्टी की खेती की कला को संदर्भित करती है, जो विभिन्न प्रकार की फसलों और पौधों के उत्पादन का सुझाव देती है। एक व्यक्ति जो कृषि में शामिल है, पशुधन को खिलाने के साथ-साथ पौधों की खेती और बढाता है।

इसलिए, कृषि में न केवल विभिन्न कच्चे माल का उत्पादन शामिल है, बल्कि खेत जानवरों का पोषण भी शामिल है।

खेती की महत्वपूर्ण भूमिका

इसलिए, दूध, ऊन और मांस को भी चावल, गेहूं और जौ की तरह कृषि उपज माना जाता है। कृषि हमारे जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि यह भोजन का प्राथमिक स्रोत है।

यह हमें विभिन्न सब्जियों और फलों को खाने के लिए, कपड़ों के लिए कपास, जानवरों के लिए चारा और घास, विभिन्न उद्योगों को चलाने के लिए कच्चे माल और बहुत कुछ प्रदान करता है।

विशेष रूप से, खेती देश के अर्थव्यवस्था की रीढ़ के रूप में कार्य करती है क्योंकि अधिकांश श्रम कृषि क्षेत्र में कार्यरत हैं। दशकों से, दुनिया भर के लोग कृषि और इसके उत्पादन पर निर्भर हैं।

विभिन्न उद्योगों के विकास में योगदान

कृषि विभिन्न उद्योगों के विकास में बहुत महत्व रखती है। जूट, कपास, कपड़ा, हथकरघा और गन्ना जैसे प्रमुख उद्योग कृषि पर निर्भर हैं क्योंकि वे कृषि उद्योग से अपना कच्चा माल प्राप्त करते हैं।

इसके अलावा, कृषि अधिकांश देशों के राष्ट्रीय राजस्व में योगदान करती है क्योंकि यह स्थानीय लोगों को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर प्रदान करता है।

कृषि अधिकांश आबादी के लिए आजीविका कमाने का एक प्राथमिक स्रोत बन गया है। इसके अतिरिक्त, कृषि परिवहन प्रणाली और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का भी समर्थन करती है। देश के भीतर कृषि उत्पादों की आवाजाही के साथ रेलवे और रोडवेज बहुत अधिक व्यवसाय करते हैं।

निष्कर्ष

किसी भी देश की अर्थव्यवस्था कृषि की समृद्धि पर निर्भर करती है। इसलिए, सरकार को देश को सफल बनाने में कृषि क्षेत्र को बढ़ाने के लिए हमेशा नए समाधान तैयार करने चाहिए। नए कृषि उपकरणों के प्रकार के आगमन के साथ, इस क्षेत्र में धीरे-धीरे सुधार हुआ है, हालांकि, अभी भी कुछ नुकसान हैं जो इसे पनपने के लिए हल किया जाना चाहिए।

  • महिला सशक्तिकरण पर निबंध: Click Here
error: Content is protected